/

यातायात नियमों का खुल्लेआम उल्लंघन, बिना फिटनेस वाले वाहन पर नहीं लग रही रोक

बड़वाह- नगर की यातायात व्यवस्था लगातार बिगड रही है। जहां देखों वहां अव्यवस्थाओं का नजारा देखने को मिलता है। शहर के मुख्य मार्गों पर वाहन चलाना टेढ़ी खीर हो गया है। शहर मे लगातार चोपट होती यातायात व्यवस्था को लेकर जिम्मेदार अनजान बने हुए है। चोराहों पर बसों का रोकना, बस स्टैड पर बसों के न जाने से भी यातायात व्यवस्था प्रभावित हो रही है। शहर के मुख्य चोराहों पर यातायात व्यवस्था खराब है। जहां दिनभर रोजाना जाम लगता है। सड़क पर लगने वाले जाम को लेकर भी पुलिस द्वारा कोई कार्य नही किया जा रहा है। इंदौर इच्छापुर रोड मार्ग पर वाहन चालक मनमर्जी से वाहन खडे कर रहे है। जिससे मार्गो पर वाहन चलाना मुश्किल होता जा रहा है। वहीं पैदल चलने वालों को भी परेशानी का सामना करना पड़ता है । लेकिन इन सब समस्याओं के बावजूद पुलिस यातायात व्यवस्था सुचारू रखने के लिए गौर नही कर रही है। नगर मे पार्किग की व्यवस्था नही होने से दो पहिया व चारपहिया वाहन सड़क किनारे खडे किए जा रहे है। नतीजन आए दिन नगर के मुख्य मार्गों पर जाम लग रहा है। इस दौरान हादसों का अंदेशा बना रहता है। यातायात नियमों का खुला उल्लंघन हो रहा है। नगर मे यातायात नियम को लेकर ऐसा लगता है मानों यहां पर नियम ताक पर है।

आटो/ रिक्शा कर रही नियमों का उल्लंघन

नगर मे चलने वाली सैकड़ों आटो रिक्शा के कारण यातायात व्यवस्था पर बुरा असर पडा रहा है। इनके चालकों द्वारा आटो रिक्शा को कहीं पर भी गलत तरीके से खडा कर दिया जाता है। नगर मे यातायात नियमों का खुल्लेआम उल्लंघन हो रहा है। बिना फिटनेस वाले वाहन भी खुल्लेआम सड़कों पर दौड़ रहे है। सड़क किनारे सही ढ़ग से वाहन ना खडें करने के कारण आए दिन सड़क पर जाम की समस्या हो रही है। बतादें की इंदौर-इच्छापुर हाइवे मार्ग पर हजारों दुर्घटनाऐं भी हो चुकी है, जिसमे कई लोगों की जान तक गई है। खास बात तो यह भी है की अधिकारी भी यातायात व्यवस्था पर लग रहे ग्रहण को अनदेखा कर गुजर रहे है। लेकिन इस बिगड़ी व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए प्रशासनिक स्तर पर स्थाई व्यवस्था नही कराई जा रही है।