//

बेवजह लोगों को घूमना पड़ा महगा ,पुलिस ने की 100 गाड़िया जब्त

इंदौर। लॉकडाउन में भी बेवजह घूमने वालों पर उज्जैन पुलिस की सख्ती बढ़ती दिख रही है। जिसका ट्रेलर देखने को मिल रहा है। बेवजह सुबह घर से निकले उज्जैन पुलिस ने कार्रवाई कर उनके वाहनों को जब्त कर लिया , साथ ही कई लोगों से सड़क पर उठक बैठक लगवाई और उनके खिलाफ कार्रवाई भी की।

बता दें कि उज्जैन जिला कलेक्टर ने आदेश दिया था कि जो भी बिना काम से घूमेगा उनके वाहनों को जब्त किया जाएगा । उज्जैन में कुछ ऐसे लोग है जो शासन के कोरोना को हराने के अभियान को बिगाड़ने में लगे है। ऐसे लोग बेखौफ और बेधड़क शहर में अपनी गाड़ी को घूम रहे थे लेकिन जिला कलेक्टर आशीष सिंह के आदेश का पालन ना करना इन 100 से अधिक लोगों को महंगा पड़ गया। उज्जैन पुलिस ने अलग-अलग चैराहों पर चेकिंग कर 100 से ज्यादा वाहनों को जब्त कर लिया। पुलिस के इस रौद्र रूप से शनिवार को कोई बच नहीं पाया महिला पुरुष बच्चे सभी के वाहनों को जब्त कर गाड़ियों की चाबिया निकालकर गाड़ी को क्रेन की मदद से थाने पहुंचाया गया, साथ ही जो पुलिस से अभद्रता कर रहे थे ऐसे युवकों को उठक बैठक भी लगवाई गई और साथ ही पुलिस ने चालानी कार्रवाई की गई।

जब्त की गाड़ियों के मालिक पर मामला दर्ज

एडिशनल एसपी अमरेंद्र सिंह ने बताया कि जनता कर्फ्यू अभियान के तहत दो पहिया और चार पहिया वाहनों की चेकिंग की जा रही है। जो लोग सचमुच काम से जा रहे हैं, उनको सम्मान पूर्वक भेजा जा रहा है। बिना वजह से घर से बाहर निकलने वालों पर कार्रवाई की गई है। 100 से अधिक वाहन जब्त किए है और कई लोगों को अस्थायी जेल भी भेजा गया। जिन लोगों की गाड़ियां जब्त की उनके खिलाफ धारा 188, 269, 270 में मामला दर्ज कर लिया है।

जिला कलेक्टर आशीष सिंह के आदेश पर एक नया अभियान शुरू किया गया है, इसमें जो उज्जैन शहर में बेवजह घूम रहे हैं ऐसे वाहन चालकों के वाहन जब्त कर उन वाहन मालिकों के खिलाफ जुर्माना लगाया जा रहा है। साथ ही वाहनों को छुड़वाने के लिए उन्हें कोर्ट के चक्कर काटने पड़ेंगे ।