//

तीन कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का भोपाल में बड़ा आंदोलन

भोपाल। तीन कृषि कानूनों के एक साल पूरे होने के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा ने आज भारत बंद का ऐलान किया है। देश के विभिन्न राज्यों से बंद का व्यापक समर्थन मिलने की खबरें आ रही है।

राजधानी भोपाल में करोंद मंडी में किसान बड़ा आंदोलन कर रहे हैं। तीन कृषि कानून के विरोध में किसानों के भारत बंद व विरोध प्रदर्शन को देखते हुए करोंद मंडी के मुख्य द्वार व आसपास भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है। वही आज हुए किसानों के प्रदर्शन में कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह भी शामिल हुए औऱ उन्होंनो इस दौरान जमकर हमला बोला। दिग्विजय सिंह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी जिस चुनाव घोषणा पत्र के आधार पर चुनी गई उस पर इन कानूनों का कोई उल्लेख नहीं था।

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि इन किसान विरोधी कानूनों के बारे में भारतीय जनता पार्टी ने कानून लाने से पहले किसी से चर्चा भी नहीं की। उन्होंने आगे कहा कि यह तीनों काले कानून एक साथ इसलिए लाए गए कि इस देश के 15 से 18 करोड का व्यवसाय होता है कृषि उत्पाद का उसमें बड़ा व्यापारी इसलिए नहीं आ पाता क्योंकि उसे हर मंडी में जाकर अपना लाइसेंस लेना पड़ेगा।

दिग्विजय सिंह ने कहा कि  भाजपा ने सरकारी मंडी को बंद कर प्राइवेट मंडियों को खोलने का कारोबार शुरू कर दिया है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि अंग्रेजी हुकूमत में भी जब जब्बरण का आंदोलन राष्ट्रपिता महात्मा गांधी कर रहे थे तब भी अदालत में जाने का अधिकार किसानों को था। दिग्विजय सिंह ने कहा कि लेकिन इन तीनों कानूनों में किसानों का अधिकार यानी कोई व्यापारी उनका माल खरीद कर पैसा नहीं देता है उस स्थिति में भी किसान इस कानून के अंतर्गत कोर्ट में नहीं जा पाएंगे। दिग्विजय सिंह ने कहा कि अदालत में नही जाना मतलब अपने हमारा अधिकार छीन लिया है।

आपको बता दें कि तीन कृषि कानून के खिलाफ संयुक्त किसान मोर्चा ने बंद बुलाया है। बंद में करीब 40 किसान संगठन शामिल होंगे। बंद सुबह सुबह 6 से शाम 4 बजे तक बुलाया गया है। कृषि कानून के खिलाफ 10 महीने से भी ज्यादा समय से किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।