/

नियमितीकरण और समान कार्य वेतन को लेकर आशा कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

भोपाल। स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत आशा कार्यकर्ताओं को अपने वेतन के लिए लगातार संघर्ष करना पड़ रहा है। विभाग की रीढ़ की हड्डी कहलाने वाली आशा कार्यकर्ताए समान कार्य वेतन पाने अब आंदोलन की राह पर निकल पड़ी हैं।

बतादें कि सोमवार को नियमितिकरण और मानदेय बढ़ाने की मांग को लेकर प्रदेश भर से राजधानी भोपाल पहुंची जिसके बाद आशा कार्यकर्ताओं ने शहर के नीलम पार्क में प्रदर्शन किया। आशा कार्यकर्ताओं का आरोप था कि पड़ोसी राज्यों में ही आशा कार्यकर्ताओं को 10 से 15 हजार रुपये वेतन दिया जा रहा है। मगर मध्य प्रदेश में पिछले 15 सालों से आशा कार्यकर्ताओं को महज 2 हजार महीने के मानदेय में काम करने पर मजबूर हो रही हैं। उनका आरोप था कि विभाग ने इतने कम पैसे देने के बावजूद उनके कंधो पर काम का बोझ लाध रखा रखा। वही सरकार नियमितीकरण का वादा भी नही निभा रही है जिससे उन्हें आंदोलन करने पर बाध्य होना पड़ रहा है।

आशा कार्यकर्ताओं के संघ ने त्योहारी सीजन में सरकार को घेरने की रणनीति तैयार की है। इसके तहत 24 सितंबर को आंगनवाड़ी व अन्य विभागों की होने वाली राष्ट्रव्यापी हड़ताल आशा कार्यकर्ता शामिल होंगी वहीं 2 अक्टूबर गांधी जयंती के दिन पूरे प्रदेश में मानव श्रृंखला बनाकर प्रदर्शन किया जाएगा। वही दीपावली पर्व पर भी आशा कार्यकर्ताए सामूहिक रुप से दीप जलाकर सरकार का विरोध करेंगी।