/

शिवपुरी में बारिश से हाहाकार : 100 से अधिक गांव जलमग्न, लोगों को बचाने में जुटी वायुसेना

शिवपुरी। मध्य प्रदेश के शिवपुरी में लगातार 20 घंटे से बारिश का दाैर जारी है। भारी बारिश के कारण कूनाे व सिंध नदी उफान पर हैं। गांव पूरी तरह जलमग्न हाे चुके हैं। जिसके चलते जगह जगह बाढ़ के हालात बन गए हैं। मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले के अंतर्गत आने वाले 100 से अधिक गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जिले के हालातों का जायजा लेने के लिये कलेक्टर से इस संबंध में चर्चा की।

बाढ़ में फंसे लोगों को एयरलिफ्ट करने के लिए वायुसेना से मदद मांगी

कलेक्टर ने बाढ़ में फंसे लोगों को एयरलिफ्ट करने के लिए वायुसेना से मदद मांगी थी, जिसपर सीएम शिवराज की अपील पर वायुसेना के 3 हेलिकॉप्टर रेस्क्यू के लिए भेज दिये हैं। साथ ही NDRF और SDRF की टीमे भी रेस्क्यू कार्य में जुटी हुई हैं। बता दें कि, बीते 24 घंटों के दौरान जिले में 11 इंच बारिश दर्ज हुई है। दरअसल, मानसून के सिस्टम के दक्षिण बिहार से यूपी तरफ शिफ्ट होने से जिले में ये हालात उत्पन्न हुए हैं।

घर में पानी भर जाने से महिला कर्मचारी की करंट लगने से माैत

बतादें कि यहां राहत कार्य के लिए तीन हेलीकॉप्टर भेजे गए हैं। वहीं एक स्वास्थ्यकर्मी के घर में पानी भर जाने से करंट फैल गया, जिससे महिला कर्मचारी की माैत हाे गई है। वहीं सिंध नदी के उफान में तीन आदिवासी फंस गए हैं, जिनकाे रेसक्यू करने का प्रयास जारी है। शाम चार बजे करीब सीएम की घाेषणा के मुताबिक तीन हेलीकॉप्टर राहत कार्य के लिए बैराड़ पहुंच चुके हैं। यहां पर हेलीकॉप्ट पहुंचने के बाद रेसक्यू आपरेशन में तेजी आई है। वहीं स्थानीय लाेग भी बाढ़ में फंसे लाेगाें काे निकालने में मदद कर रहे हैं।

इन जगह पर अभी भी है लोग फंसे

हर्रई से सभी लाेगाें काे निकाल लिया गया है, लेकिन बरखेड़ा व सिलपरी गांव में अब भी करीब पचास से ज्यादा परिवार फंसे हुए हैं। जिनकाे निकालने के प्रयास जारी हैं। शिवपुरी के हालात की जानकारी मिलने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चाैहान ने तीन हेलीकॉप्ट रेसक्यू आपरेशन के लिए भेज दिए हैं।