//

मिर्च को चमकाने के लिए हो रहा था केमिकल का इस्तेमाल, फैक्ट्री की सील

मैदे का वजन बढ़ाने के लिए केमिकल का उपयोग किया जा रहा था।

इंदौर। मिलावटखोरों के खिलाफ जिला प्रशासन की कार्रवाई जारी है। नकली हींग बनाने की फैक्ट्री पर कार्रवाई के बाद गुरूवार को महू और राऊ क्षेत्र में भी दो फैक्ट्रियों को सील कर दिया गया। फैक्ट्रियों में केमिकल का इस्तेमाल कर मिर्च को चमकाने और मैदा मिलाकर वजन बढ़ने का काम किया जाता था।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के आदेश के बाद कई जिलों में प्रशासन की छापामार कार्रवाई जारी है। कुछ ऐसी ही कार्रवाई इंदौर में भी देखने को मिली है जहां कुछ दिनों पहले नकली हींग बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया गया था वहीं गुरूवार को राऊ और महू क्षेत्र में काली मिर्ची के मिलावटखोरों को पकड़ा गया है। कार्रवाई के दौरान राऊ क्षेत्र में जिला प्रशासन की टीम को केमिकल मिले हैं जिसके इस्तेमाल से काली मिर्च को चमकाया जाता था वहीं महू क्षेत्र में कार्रवाई के दौरान फैक्ट्री से खोपरा बुरा में मिस ब्रांडिंग का मामला सामने आया जिसमें काली मिर्ची में पालिशकर मैदा मिलाकर वजन बढ़ाने का काम करते थे।

अभी तक इंदौर में 5 लोगों के खिलाफ रासुका की कार्रवाई की जा चुकी है वहीं इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने मिलावटखोरों के खिलाफ सख्त रवैया अख्तियार किया है। उन्होंने कहा कि मिलावटखोरों और माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी और किसी भी असामाजिक तत्व को बक्शा नहीं जाएगा।