//

उज्जैन की खिलाड़ी सौम्या अग्रवाल को न्यूयॉर्क की यूनिवर्सिटी ने दी 11 लाख की स्कॉलरशिप

उज्जैन। उज्जैन की रहने वाली 18 साल की सौम्या अग्रवाल अमेरिका के न्यूयॉर्क की डेलावेयर यूनिवर्सिटी में जंप रोप यानि स्किपिंग रोप की ट्रेनिंग देंगी। सौम्या 24 अगस्त को अमेरिका के लिए रवाना होंगी। वह अमेरिका के एक क्लब में भी अपनी ट्रेनिंग देंगी। साथ ही खुद साइकोलॉजी की पढाई भी करेंगी।

हर साल मिलेगी 11 लाख रुपए की स्कॉलरशिप

बतादें कि भारत में सौम्या के खेल की उपलब्धि को देखते हुए डेलावेयर यूनिवर्सिटी ने सौम्या को यूनिवर्सिटी का ब्रांड एम्बेसडर चुना है। सौम्या को डेलावेयर यूनिवर्सिटी ने 15 हजार 500 यूएस डॉलर यानी करीब 11 लाख रुपए की स्कॉलरशिप भी दी है जो की सौम्या को हर साल मिलेगी। सौम्या का कहना है कि, उन्होंने भारत में भी कई यूनिवर्सिटी में कोशिश की, लेकिन उनका कहना था कि यहां सिर्फ 14 खेलों को महत्व दिया जाता है। इस कारण उनके मेडल और उपलब्धि कोई काम ही नहीं आई, लेकिन अमेरिका में न सिर्फ उन्हें यूनिवर्सिटी का ब्रांड एम्बेसडर बनाया गया, बल्कि स्कॉलरशीप भी दी गई।

सौम्या का नाम जॉगिंग के लिए इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी दर्ज हुआ था

सौम्या ने भारत में रहकर कम उम्र में ही बढ़ा मुकाम हासिल कर लिया है। 10 साल की उम्र से जंप रोप सीखने वाली सौम्या को मध्य प्रदेश सरकार ने 2016 में एकलव्य अवॉर्ड से सम्मानित किया था। सौम्या का नाम एक मिनट में सबसे ज्यादा जॉगिंग के लिए इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में भी दर्ज हुआ था। 10 साल की उम्र से सौम्या के कोच रहे मुकुंद झाला ने कहा कि बिना कोर्ट के गार्डन में प्रैक्टिस करने वाली सौम्या ने कई इंटरनेशनल लेवल पर गोल्ड मेडल जीते हैं। सौम्या ने इंटरनेशनल में कोरिया, चाइना, पुर्तगाल, पेरिस, नॉर्वे, भूटान, नेपाल, साउथ कोरिया में वर्ल्ड जम्प रोप चैम्पियनशिप में 5 गोल्ड, 5 सिल्वर, 4 ब्रॉन्ज मेडल जीतकर भारत का नाम रोशन किया है।