//

शिवराज सरकार का बड़ा फैसला बाढ़ पीड़ितों को मिलेंगे नए मकान

भोपाल। मध्यप्रदेश में बाढ़ जैसी स्थति भविष्य में फिर ना बने इसपर सरकार द्वारा अब रणनीति बनाई जा रही है । बतादें कि मध्यप्रदेश सरकार ग्वालियर और चंबल में बाढ़ से सबक लेते हुए अब ऐसे इलकों में बसे गांवों को ऊंची जगहों पर शिफ्ट किए जाएंगे। शासन ने अब नई रणनीति पर काम शुरू कर दिया है। इसके लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने शनिवार को नया ऐलान किया।
बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत, पुनर्वास और पुननिर्माण कार्य भी जारी है।

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत, पुनर्वास और पुननिर्माण कार्य भी जारी है

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कहा कि हर साल बाढ़ झेलने वाले गांवों को ऊंची जगहों पर शिफ्ट किया जाएगा। साथ ही बाढ़ की तबाही झेल चुके पीड़ित लोगों को जल्द ही नए मकान भी दिए जाएंगे। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत, पुनर्वास और पुननिर्माण कार्य भी जारी है। चौहान ने कहा कि प्रदेश के बाढ़ प्रभावितों के लिए राहत, पुनर्वास, पुनर्निर्माण, पुनर्स्थापना ही शासन की नीति है। बाढ़ प्रभावितों के साथ प्रदेश सरकार पूरी ताकत के साथ खड़ी है। इस चुनौती से बाहर निकालने के लिए लगातार काम कर रही है। राहत, पुनर्वास और पुनर्निर्माण का कार्य युद्धस्तर पर पूर्ण किया जा रहा है। बिजली व्यवस्था की स्थापना, खाद्य सामग्री की आपूर्ति, अधोसंरचना को फिर से स्थापित करने, क्षतिग्रस्त फसलों और गिरे घरों के सर्वे के कार्य को प्राथमिकता के साथ किया जाएगा।

मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर मौजूद रहे

शिवराज ने शनिवार को बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत कार्य की समीक्षा के दौरान यह बात कही। शिवराज के साथ बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत व पुनर्वास कार्यों की समीक्षा बैठक में केंद्रीय उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर मौजूद रहे। इसके अलावा प्रदेश की टास्क फोर्स, प्रभारी मंत्री और क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियां भी वर्चुअली शामिल हुईं।