//

Sawan Somwar Special: सावन मास के अंतिम सोमवार को इन संदेशों से दे शुभकामनाएं

Start

Sawan Maas 2021: सावन मास शिव का प्रिय मास है और सोमवार महादेव को अत्यंत प्रिय है। 16 अगस्त को इस साल का चौथा और आखिरी सावन सोमवार है। इस सोमवार को महादेव की आराधना का विशेष महत्व है। अब हम आपको बताते हैं सावन सोमवार के इस विशेष अवसर पर कैसे अपने प्रियजन को बधाई संदेश से शुभकामनाएं दे।

शिव की भक्ति से नूर मिलता है
सबके दिलों को सुकून मिलता है
जो भी लेता है दिल से भोले का नाम
उसे भोले का आशीर्वाद जरूर मिलता है

शिव की महिमा होती है अपरंपार,
जो सभी भक्तों का करती है बेड़ा पार;
चलो आओ जुड़ बैठे शिव के चरणों में;
मिल कर बांट लें हम भोले का यह प्यार

शिव की बनी रहे आप पर छाया,
पलट दे जो आपकी किस्मत की काया,
मिले आपको वो सब जिंदगी में,
जो कभी किसी ने भी ना पाया।

मन छोड़ व्यर्थ की चिंता
तू शिव का नाम लिये जा
शिव अपना काम करेंगे
तू अपना काम किए जा

हैसियत मेरी छोटी है
पर मन मेरा शिवाला है
करम तो मैं करता जाऊंगा
क्योकि साथ मेरे डमरूवाला है

मंदिर की घंटी, आरती की थाली
नदी के किनारे सूरज की लाली
जिंदगी लाए खुशियों की बहार

मुबारक हो आपको सावन का त्यौहार
ओम में ही आस्था, ओम में ही विश्वास,
ओम में ही शक्ति, ओम में ही सारा संसार,
ओम से होती है अच्छे दिन की शुरुआत,

भोले की शक्ति में मुझे डूब जाने दो,
शिव के चरणों में शीश झुकाने दो,
आई है शिवरात्रि मेरे भोले बाबा का दिन,
आज के दिन मुझे भोले के गीत गाने दो.

आज जमा लो भांग का रंग,
आपकी जिंदगी बीते खुशियों के संग,
भगवान भोले की कृपा बसरे आप पर,
जीवन में भर जाये नयी उमंग

प्रभु की बनाई कुदरत नही देखी
दिलो में छुपी दौलत नही देखी
जो कहते है भगवान् नही दुनिया में
शायद उन्होंने अभी तक उज्जैन मे
महाकाल की चोखट नही देखी

राम भी उसका रावण उसका,
जीवन उसका मरण भी उसका।
तांडव है और ध्यान भी वो है,
अज्ञानी का ज्ञान भी वो है।

नागेंद्रहाराय त्रिलोचनाय भस्मांग रागाय महेश्वराय
नित्याय शुद्धाय दिगंबराय तस्मे न काराय नम: शिवाय:॥

जटा टवी गलज्जलप्रवाह पावितस्थले गलेऽव लम्ब्यलम्बितां भुजङ्गतुङ्ग मालिकाम्‌।
डमड्डमड्डमड्डमन्निनाद वड्डमर्वयं चकारचण्डताण्डवं तनोतु नः शिव: शिवम्‌ ॥१॥

ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् |
उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय माऽमृतात्||