Mradhubhashi

Ganesh Chaturthi 2023: आज गणेश चतुर्थी, इस बार दो शुभ योग, राशि अनुसार बप्पा को लगाएं भोग

Ganesh Chaturthi 2023

Ganesh Chaturthi 2023 Lord Ganesha will fulfill your wish

Ganesh Chaturthi 2023 Shubh Muhurat: गणेशोत्सव (Ganeshotsav) आज से अगले 9 दिनों तक पूरे देश में बड़े धूमधाम और उत्साह के साथ से मनाया जाएगा। यह गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) या विनायक चतुर्थी नाम से भी प्रसिद्ध है। पर्व भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि पर मनाया जाता है। गणपति की लगातार 10 दिन पूरे विधि- विधान से पूजा-अर्चना बाद अनंत चतुर्दशी पर मूर्ति का विसर्जन किया जाता है। मान्यता है कि गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) पर बप्पा (Bappa) की पूजा करने से सभी बाधाएं दूर होती हैं। जहां बप्पा विराजते हैं, वहां सुख-समृद्धि का वास होता है।

Ganesh Chaturthi 2023 पंचांग के मुताबिक इस साल भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि 2 दिन रहेगी। इसका उदयकाल 19 सितंबर को है, इसलिए 19 सितंबर से गणेश उत्सव (Ganesh utsav) की शुरुआत हुई है। समापन 28 सितंबर को होगा। भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि 18 सितंबर की दोपहर 12:39 बजे से शुरू हुआ। गणेश चतुर्थी तिथि का समापन 19 सितंबर को दोपहर 1: 43 बजे होगा।

शुभ मुहूर्त सुबह 11:07 बजे से, दो शुभ योग
Ganesh Chaturthi 2023 गणेश स्थापना (Ganesh Sthapana) के लिए शुभ मुहूर्त आज सुबह 11:07 बजे से दोपहर 01:34 बजे तक है। इस गणेश महोत्सव पर दो शुभ योग बन रहे हैं। इस दिन वैधृति योग (vaidhriti yoga) बन रहा और दूसरा दोपहर 1:48 बजे तक स्वाति नक्षत्र रहेगा। इसके बाद विशाखा नक्षत्र (Vishakha Nakshatra) शुरू होगा, जो देर रात रहेगा। इन योगों को ज्योतिष में विशेष माना जाता है। इसके साथ ही इन योगों में पूजा करने का दोगुना फलता मिलता है।

गणपति की पूजन विधि
Ganesh Chaturthi 2023 सबसे पहले भगवान का स्मरण करते हुए ऊं गं गणपतये नमः मंत्र का जाप करें। इसके बाद चौकी पर रखी गणेश जी की मूर्ति पर जल छिड़ दें। हल्दी, चावल, चंदन, गुलाल, सिंदूर, मौली, दूर्वा, जनेऊ, मिठाई, मोदक, फल-माला और फूल अर्पित करें। इसके बाद गणेश जी के साथ भगवान शिव और मां पार्वती की पूजा करें। फिर भगवान की आरती करें। आरती बाद 21 लड्डओं का भोग लगाएं। भगवान गणेश जी की मूर्ति के पास 5 लड्डू रखें और बाकी को ब्राह्राणों और लोगों में प्रसाद के रूप में वितरित करें।

पूजा से जुड़ी बेहद जरूर बातें

  1. बप्पा की पूजा में तुलसी शामिल न करें।
  2. भगवान गणेश को गुड़ के मोदक और बूंदी के लड्डू, शामी वृक्ष के पत्ते व सुपारी अर्पित करें। ये चीजें भगवान को अति प्रिय हैं।
  3. गणपति जी की पूजा हमेशा हरे रंग के कपड़े पहनकर करें।
  4. गणेश चतुर्थी में भगवान की स्थापना करने के बाद प्याज और लहसुन नहीं खाएं।
  5. पूजा के दौरान भगवान को दूर्वा घास जरूर चढ़ाएं।

राशि के मुताबिक भगवान को भोग लगाएं
मेष: भगवान गणेश को चना दाल या इमली चावल का भोग लगा सकते हैं।
वृषभ: भगवान गणेश को मीठे चावल की खीर या लड्डू अर्पित करें।
मिथुन: गणेश जी को फलों का सलाद, ककड़ी का रायता या अंकुरित सलाद चढ़ा सकते हैं।
कर्क: खिचड़ी, दाल जैसे व्यंजन अर्पित करें।
सिंह : खीर, मीठे चावल आदि का भोग लगा सकते हैं।
कन्या: फल, मिठाई, दूध, सौंफ आदि चढ़ा सकते हैं।
तुला: नारियल की मिठाई, मिश्रित सब्जी का भोग आदि अर्पित कर सकते हैं।
वृश्चिक:दही, मिठाई, फल, नारियल का भोग लगाएं।
धनु: चावल, मूंगफली, नारियल, मिठाई का भोग लगा सकते हैं।
मकर: पनीर के व्यंजन, जलेबी, मालपुए आदि का भोग लगाएं।
कुंभ: मिठाई, फल, शहद, सौंफ आदि अर्पित कर सकते हैं।
मीन: खोये की मिठाई, मोदक, बूंदी के लड्डू का भोग लगा सकते हैं।

चंद्रमा को नहीं देखते
Ganesh Chaturthi 2023 मान्यता है कि गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) की रात चंद्रमा को नहीं देखा जाता है। मान्यता है कि भगवान कृष्ण पर बहुमूल्य रत्न चोरी करने का झूठा आरोप लगा और उन्हें सजा दी गई। इसके बाद भगवान को कोढ़ की बीमारी हुई, जिससे छुटकारा पाने का एक तरीका था, भक्ति-भाव के साथ गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) पर भगवान गणपति (Ganpati) की पूजा करना। इस त्योहार की रात भगवान ने चंद्रमा को देखा तो उनकी बीमारी और बढ़ गई। इस कारण इस दिन चंद्रमा को नहीं देखना चाहिए।

Ganesh Chaturthi 2023 हिंदू ज्योतिष के मुताबिक चंद्रमा भावनाओं और मानसिक स्थिरता से संबंधित है। इसकी ऊर्जा गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) पर शक्तिशाली होती है और चंद्रमा को देखने से ऊर्जा विचलित हो सकती है, जिससे जातक को मानसिक और भावनात्मक अस्थिरता का सामना करना पड़ सकता है। हिंदू चंद्र कैलेंडर के चौथे दिन गणेश चतुर्थी पड़ती है और इस दिन चंद्रमा कमजोर होता है। ऐसे में इस दिन चंद्रमा को देखने से अपशकुन और नकारात्मक ऊर्जा पैदा हो सकती है।

अन्य खबरें

ये भी पढ़ें...
क्रिकेट लाइव स्कोर
स्टॉक मार्केट