//

Farmers Protest: हरियाणा के मुख्यमंत्री खट्टर की रैली का विरोध कर रहे किसानों पर पुलिस ने करनाल में आंसू गैस के गोले दागे

करनाल में किसानों पर लाठीचार्ज।

चंडीगढ़। किसान आंदोलन को 40 से ज्यादा दिन हो गए हैं। सरकार से कई दौर की वार्ता के बाद भी अब तक नतीजा नहीं निकला है। इस बीच, हरियाणा के करनाल में रविवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की रैली का विरोध कर रहे किसानों पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे।

दरअसल, मुख्यमंत्री खट्टर करनाल के कैमला गांव में किसान महापंचायत रैली करने वाले थे। इसके लिए पुलिस ने कड़े सुरक्षा इंतजाम किए थे। प्रदर्शन कर रहे किसान रैली स्थल पर पहुंचने की कोशिश कर रहे थे। पुलिस ने जब इन्हें रोकने की कोशिश की तो किसान बेकाबू हो गए। इन्हें रोकने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज के साथ ही वाटर कैनन का इस्तेमाल किया। इसके बाद किसान मुख्यमंत्री की रैली के लिए तैयार किए गए हेलीपैड तक पहुंच गए और वहां तोड़फोड़ मचा दी।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष से किसानों की बहस हुई

इस दौरान किसानों की प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ से बहस भी हो गई। इसके बाद खराब मौसम का हवाला देकर मुख्यमंत्री की किसान महापंचायत रैली रद्द कर दी गई।

दिल्ली में किसानों की बैठक
इधर, दिल्ली के बॉर्डर पर बैठे किसानों का संयुक्त मोर्चा एक अहम बैठक करेगा, जिसमें आगे की रणनीति तय होगी। जानकारी के मुताबिक, किसान 26 जनवरी की तैयारियों का ऐलान भी कर सकते हैं। वहीं, सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में कृषि कानूनों को रद्द करने की अर्जी पर सुनवाई भी होनी है। इससे पहले भी बुधवार को हुई सुनवाई में कोर्ट ने कहा था कि स्थिति में कोई सुधार नहीं है। हम किसानों की हालत समझते हैं।

गाजीपुर बॉर्डर बंद
इस बीच, दिल्ली का चिल्ला और गाजीपुर बॉर्डर बंद कर दिया गया है। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने रविवार को एडवाइजरी जारी करते हुए कहा कि किसानों के आंदोलन के मद्देनजर दोनों बॉर्डर को बंद करने का फैसला किया गया है।