UP Panchyat Election: एक ही परिवार में चार-चार महिलाओं ने एक ही बार में जीत दर्ज की है।
//

UP Panchyat Election: बैंक मैनेजर की नौकरी छोड़ लड़ा पंचायत चुनाव, एक परिवार की 4 महिलाओं ने की जीत दर्ज

UP Panchyat Election: उत्तर प्रदेश के पंचायत चुनाव में कई तरह के रंग देखने को मिल रहे हैं। पंचायत का चुनाव लड़ने के लिए लोगों ने बेहतर नौकरी छोड़ने से भी गुरेज नहीं किया है। सबका मकसद रुतबा और समाजसेवा है। कहीं पर एक ही परिवार के कई सदस्य पंचायत में चुनाव जीतकर आए हैं।

समाजसेवा के लिए छोड़ी नौकरी

बैंक में मैनेजर की नौकरी छोड़ चुना्व लड़ने वाले आशीष कुमार मिश्रा सोनभद्र में ग्राम प्रधान बन गए हैं। घोरावल विकासखंड के डोरिहार ग्राम पंचायत से आशीष कुमार मिश्रा ग्राम प्रधान पद पर चुने गए हैं। आशीष ने वाराणसी से एमकाम और एमबीए किया है और एचडीएफसी बैंक वाराणसी में सहायक मैनेजर के पद पर थे। 25 साल के आशीष मिश्रा के ग्राम प्रधान बनने पर लोगों को गांव में विकास की उम्मीद है। वहीं प्रधान आशीष मिश्रा का कहना है कि उनकी इच्छा अपने गांव का समग्र विकास करना है।

एक घर की चार बहुएं बनी ग्राम प्रघान

शाहजहांपुर जिले में एक परिवार ने जीत का नया रिकॉर्ड कायम किया है। एक ही परिवार में चार-चार महिलाओं ने एक ही बार में जीत दर्ज की है। इनमें तीन सगे भाई की पत्नी और एक चचेरे भाई की पत्नी हैं। शाहजहांपुर जिले के सिंधौली बाजार वाले मैदान के मालिक ओमकार सिंह के घर में चार महिलाओं ने क्षेत्र पंचायत सदस्य का चुनाव जीता है। इसमें ओमकार सिंह की पत्नी सुधा सिंह सिंधौली कस्बे से बीडीसी बनीं। उनके छोटे भाई निरंकार सिंह की पत्नी सुनीता सिंह जमुनिया गांव से बीडीसी जीतीं और सबसे छोटे भाई सुनील सिंह की पत्नी रितु सिंह रघुनाथपुर से बीडीसी का चुनाव जीतीं। चचेरे भाई श्याम बहादुर की पत्नी मंजू सिंह सिंधौली प्रथम से बीसीडी बनीं है।