//

सुपरस्टार रजनीकांत होंगे दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड से सम्मानित, ऐसा है उनका फिल्मी सफर

Start

Rajnikant: दक्षिण के सुपरस्टार रजनीकांत को साल 2019 का दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड देने की घोषणा की गई है। ये जानकारी सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी। दादा साहेब फाल्के सम्मान से सम्मानित होने वाले रजनीकांत 51वीं शख्सियत हैं।

प्रकाश जावड़ेकर ने ट्विटर कर दी जानकारी

प्रकाश जावड़ेकर ने ट्विटर पर रजनीकांत की तस्वीर के साथ पोस्ट कर कहा कि मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि साल 2019 का दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड भारतीय सिनेमा के महान अभिनेताओं में से एक रजनीकांत को दिया जा रहा है। बतौर अभिनेता, प्रोड्यूसर और स्क्रीनराइटर उनका योगदान आइकॉनिक रहा है। साथ ही उन्होंने जूरी में शामिल आशा भोसले, सुभाष घई, मोहनलाल, शंकर महादेवन और बिस्वजीत चटर्जी को भी धन्यवाद दिया।

मराठी परिवार में हुआ जन्म

दक्षिण भारत के महान अभिनेता रजनीकांत का जन्म 12 दिसंबर 1950 को बेंगलुरु के एक मराठी परिवार में हुआ था। उनका असली नाम शिवाजी राव गायकवाड़ है। उनके पिता का नाम रामोजी राव और माता का नाम जीजाबाई था। रजनीकांत चार भाई-बहनों में सबसे छोटे थे। रजनीकांत के घर के हालत अच्छे नहीं थे इसलिए उन्होंने कुली से लेकर बस कंडक्टर तक का काम किया। बस में टिकट काटने का उनका अंदाज काफी अनोखा था इसलिए उनके दोस्तों ने उन्हें फिल्मों में किस्मत आजमाने की सलाह दी और कुछ ही समय में वो दक्षिण भारतीय फिल्मों के पसंदीदा अभिनेता बन गए।