/////

Ratan Tata: टाटा ने जीता हिंदुस्तान का दिल, अपने कर्मचारियों के लिए किया ये बड़ा एलान

Start

Ratan Tata: टाटा कंपनी हमेशा से नौकरीपेशा लोगों लिए मनपसंद कंपनी रही है। बेहतर वर्कप्लेस और मिलने वाली सुविधाएं इस कंपनी को दूसरी कंपनियों से बे्हतर बनाती है। कोरोना से ध्वस्त होती अर्थव्यवस्था और रोजगार के कम होते साधनों के बीच टाटा कंपनी ने एक और मिसाल पेश की है। । टाटा स्टील ने ऐलान किया है कि कंपनी कोरोना से जान गंवाने वाले कर्मचारियों के परिजनों को कर्मचारी के रिटायरमेंट यानी 60 साल की उम्र तक उनके आश्रितों को पूरी सैलरी देती रहेगी।

कर्मचारियों के हित में टाटा का बड़ा एलान

देश इस समय कोरोना महामारी की गिरफ्त में है। ऐसे में देश-दुनिया की अर्थव्यवस्था पर भी इसका गहरा असर हुआ है। लोग जान जोखिम में डालकर काम कर रहे हैं। कई लोग काम करते हुए कोरोना के शिकार हुए हैं और उनकी इस महामारी से मौत हुई है। टाटा स्टील से इस मुश्किल वक्त में दरियादिली दिखाते हुए अपने कर्मचारियों और उसके परिजनों के हित में बड़ा एलान किया है और कोविड-19 (COVID-19) से मरने वाले कर्मचारियों के परिवार के सदस्यों के लिए सामाजिक सुरक्षा योजनाओं की घोषणा की है। कंपनी ने कहा कि कि यदि कंपनी के किसी कर्मचारी की मृत्यु कोरोना की वजह से होती है तो कर्मचारियों के परिजनों को कर्मचारी की सेवानिवृत्ति की उम्र तक पूरी पगार मिलती रहेगी।

दूसरी सुविधाएं भी कंपनी कर्मचारियों को देगी

कंपनी ने बताया कि यह वेतन की राशि मृत कर्मचारी की आखिरी सैलरी के बराबर होगी। इसके साथ ही इन कर्मचारी के परिवारों को बच्चों की पढ़ाई, मेडिकल और आवास सुविधाएं भी पहले की तरह मिलती रहेंगी। इसके अलावा यदि कोई फ्रंटलाइन कर्मचारी काम के दौरान संक्रमित हो जाता है और उसकी मृत्यु हो जाती है, तो कंपनी उसके बच्चों के स्नातक होने तक उसकी पढ़ाई का सारा खर्च वहन करेगी। कंपनी परिवार को राहत पहुंचाने के लिए वन-टाइम पेआउट भी देगी। टाटा स्टील की इस घोषणा की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ की जा रही है।