/////

राखी पर बाजार हुए गुलजार, देखें हमारी खास खबर

राखी का त्यौहार लाया खुशियों की बाहर

भोपाल. भारत त्यौहारों का देश है, और त्यौहार मतलब सेलिब्रेशन, बाज़ार में रौनक और हर जगह खुशहाली। लेकिन कोरोना महामारी के कारण इन त्योहारों का रंग फीका पड़ता हुआ दिखाई दे रहा है। लेकिन इस साल रक्षाबंधन कोरोना की दूसरी लहर के बाद जीवन में दोबारा खुशियों की बाहर लेकर आया है।

लोगों का उत्साह और बाजार का हाल क्या है? यह जानने के लिए मृदुभाषी की टीम मध्य प्रदेश के कई शहरों में गई और त्यौहार के रंग को जाना, देखिए मृदुभाषी की रक्षाबंधन पर यह खास रिपोर्ट –

मृदुभाषी की टीम ने प्रदेश के कई प्रमुख शहरों का हाल जाना, जिसके चलते जब हमारे संवाददाता मोहम्मद ताहिर राजधानी भोपाल की गलियों में घूमे तो उन्हें लोगों में उत्साह के साथ बाज़ार में कही न कही कोरोना की मार भी देखने को मिली।

मध्यप्रदेश की राजधानी के बाद मृदुभाषी के संवाददाता अमृत बैंडवाल ने बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन के भी हाल जाने, और लोगों से बातचीत की।

उज्जैन में कोरोना की मार देखने को मिली, जिसके बाद मृदुभाषी के रिपोर्टर प्रदीप जैन ने सारंगपुर के मार्किट का हाल जाना, जहाँ पर कोरोना की मार तो थी लेकिन फिर भी रक्षा बंधन की चमक बरक़रार रही।

बाज़ारों में कोरोना की मार है, लेकिन फिर भी रक्षाबंधन ऐसा उत्साह से भरा त्यौहार है कि यह हमारे जीवन में खुशियों का संचार कर ही देता है। आपसे इसी सन्देश के साथ विदा लेते है कि कोरोना अभी गया नहीं है, गाइडलाइंस को फॉलो कर राखी का यह पर्व मनाए।

मृदुभाषी परिवार की और से रक्षाबंधन की बहुत बहुत शुभकामनाएं।