//

कोरोना वैक्सीन कोविशिल्ड के उत्पादन में लगे इंस्टीट्यूट में लगी आग, सीईओ ने कही यह बात

अग्निकांड का का वैक्सीन के प्रोडक्शन पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

पुणे। महाराष्ट्र के पुणे में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के टर्मिनल-1 की चौथी और पांचवीं मंजिल पर भीषण आग लग गई है। मौके पर दमकल की 10 गाड़ियां पहुंच गई हैं। इंस्टीट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला ने कहा है कि उनकी पहली प्राथमिकता लोगों को फंसे हुए लोगों को बाहर निकालना है।

बीसीजी का टीका बनता है यहां

आग की वजह का अभी तक पता नहीं चल पाया है, लेकिन माना जा रहा है कि आग शार्ट सर्किट की वजह से लगी है। आग से फिलहाल जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं है। इमारत में कुछ काम किया जा रहा था। इस लैब में टीबी से सुरक्षा प्रदान करने वाला बीसीजी का टीका बनाया जाता है और कोरोना से बचाव के कोरोना वैक्सीन कोविशिल्ड भी यहीं पर बनाए जा रहे हैं। जिसकी आपूर्ति इस समय भारत समेत कई देशों में की जा रही है।

कोरोना वैक्सीन कोविशिल्ड है सुरक्षित

आग से कोरोना वैक्सीन कोविशिल्ड का टीका सुरक्षित है। आग वहां तक नहीं पहुंची है। इस दुर्घटना का वैक्सीन के प्रोडक्शन पर कोई असर नहीं पड़ेगा। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने इस प्लांट का उद्घाटन किया था। फायर ऑफिसर ने कहा है कि प्लांट में चार लोग फंसे हुए थे, उनमें से तीन लोगों को बचा लिया गया है। इस प्लांट की स्थापना 1996 में की गई थी।