///

किसान हुए परेशान,लॉकडाउन के दौरान लाखों की सब्जी खराब,मुफ्त में बाटने को मजबूर किसान

लाखों की सब्जी खराब,मुफ्त में बाटने को मजबूर किसान

इंदौर। लॉकडाउन में एक और जहां आम जनता तक फल और सब्जियां नहीं पहुंच पा रही है तो वहीं इन सब्जियों को उगाने वाला किसान भी परेशान है। इंदौर शहर के समीप गौतमपुरा में ही एक किसान को अपनी चार लाख की फसल पर ट्रैक्टर चलाना पड़ा किसान ने खेत में सब्जियां उगाई थी लेकिन लॉकडाउन लगने की वजह से उसे बेच नहीं सका जिसके कारण उसे इस फसल को खुद ही नष्ट करना पड़ा ।

इंदौर शहर के समीप गौतमपुरा इलाके में रहने वाले किसान महेश भूत ने मार्च में अपने खेत में लौकी की फसल लगाने की शुरुआत की थी किसान को उम्मीद थी कि आने वाले दिनों में फसल तैयार होने पर उसे अच्छा मुनाफा मिलेगा। लेकिन फसल की बोवनी के कुछ दिनों बाद ही लॉक डाउन लग गया और जब तक किसान की फसल तैयार होती,तब तक शहर में मंडिया भी बंद हो गई किसान ने दो बार लौकी को इंदौर में बेचने के लिए प्रयास भी किए लेकिन लौकी नहीं बिकी जिसके बाद किसान ने इंदौर ले जाई गई सब्जी लोगों को मुफ्त में ही बाट दी, साथ ही किसान ने गांव में भी यह संदेश पहुंचाया की जिसे भी लौकी चाहिए वह मुफ्त में उनके खेत से ले जा सकता है ।

मजदुर करके खेत में ट्रैक्टर से लौकी की फसल को हटवाने का काम शुरू किया

किसान महेश भूत ने बताया कि लोगों के द्वारा खेत से लौकी ले जाइ भी गई लेकिन उसके बावजूद खेत में लौकी की भरमार लगी हुई थी। आने वाले समय में उन्हें सोयाबीन के लिए अपना खेत तैयार करना था और खेतों में लौकी पड़ी हुई थी इसलिए अगली फसल की तैयारी के लिए किसान को मजदूर करके इन लौकी को हटाना पड़ा और इसके लिए खेत में ट्रैक्टर से लौकी की फसल को हटवाने का काम शुरू किया गया । महेश ने बताया कि फसल लगाने में लगभग डेढ़ लाख से ज्यादा का खर्च आया था और इसके बाद तकरीबन चार लाख का मुनाफा उन्हें होने की उम्मीद थी लेकिन लॉकडाउन के कारण पूरी फसल किसी काम की नहीं रही।