//

बरसते पानी में भी धरने पर डटे रहे बिजली कर्मचारी

बिजली विभाग कर्मचारी

भोपाल. आश्वान के बाद निजीकरण बिल रद्द नहीं करने पर बिजली कर्मचारियों ने फिर चरणबद्ध आंदोलन शुरू कर दिया है। अपनी 5 सूत्रीय मांगों को लेकर मंगलवार को भोपाल में 17 कर्मचारी संगठन के मप्र विधुत अधिकारी-कर्मचारी संयुक्त मोर्चा के बैनर तले बरसते पानी मे धरना प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा है।

धरना प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा बिजली कम्पनियों के निजीकरण के लिए संसद में लाये जा रहे इलेक्ट्रीसिटी एमेंडमेंट बिल 2021 के विरोध में अब वह मैदान में आ गए हैं। उन्होंने कहा कि संविदा आउटसोर्स कर्मचारियों के नियमितीकरण, कोरोना योद्धा मृतक बिजली कर्मचारियों के आश्रितों को मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप 50 लाख रुपये का मुआवजा और अनुकम्पा नियुक्ति सहित केन्द्र के अनुरूप मंहगाई भत्ता और कोरोना के नाम पर रोकी गई वेतनवृद्धि आदि मांगों को लेकर संयुक्त मोर्चा ने आज भोपाल में बिजली कम्पनी पर धरना प्रदर्शन कर कम्पनी के प्रबंध संचालक को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा हैं।

कर्मचारियों का कहना है कि सरकार यदि मांगों का निराकरण नहीं करती है तो 13 अगस्त से सम्पूर्ण कार्यो का बहिष्कार कर प्रदेशभर में कार्य बहिष्कार आंदोलन किया जाएगा।

भोपाल से मृदुभाषी के लिए महोम्मद ताहिर खान की रिपोर्ट