///

Coronavirus: दोनों जुड़वां थे और मौत भी दोनों को छोटी उम्र में एकसाथ ले गई

Start

Coronavirus: कोरोना वायरस की वजह से कई लोग काल के गाल में समा गए, लेकिन मौतें ऐसी भी हुई, जिसके बारे में जिसने भी सुना वह मर्माहत हो गया। दो भाई, लेकिन एक जान थे वो। जब उनकी मौत की खबर आई तो हर आंख नम थी और हर शख्स की आंखों में आंसू थे। आखिर क्या थी वजह।

दो जुड़वां होनहार बेटों की हुई मौत

एक परिवार ने महज 22 घंटों के अंदर अपने दो जुड़वां होनहार बेटों को गंवा दिया। दोनों का जन्म एक साथ हुआ था, दोनों का पेशा एक था, वो इंजीनियर थे और दोनों ने एक ही बीमारी से एक साथ इस दुनिया को अलविदा कहा। ये दोनों भले ही दो जिस्म थे मगर थे एक जान की तरह, क्योंकि एक की मौत की खबर की आहट से दूसरे की भी सांसें थम गईं। पिता ग्रेगरी रेमंड राफेल नो दोनों का 23 अप्रैल को जन्मदिन मनाया था। 23 अप्रैल 1997 को जन्म लेने वाले जुड़वां भाई जोफ्रेड वर्गीज ग्रेगरी और राल्फ्रेड जॉर्ज ग्रेगरी ने 24 साल तक साथ रहने के बाद दुनिया छोड़ दी। दोनों कोरोना संक्रमित थे और 3 और 14 मई को मौत हो गई।

दोनों थे कंप्यूटर इंजिनियर

जोफ्रेड और राल्फ्रेड के पिता का कहना है कि जुड़वा भाई होने के नाते वह हर काम एकसाथ करते थे। एक साथ खाते-पीते, खेलते और पढ़ाई करते थे। दोनों एक साथ ही कंप्यूटर इंजिनियर बने और साथ ही दोनों ने हैदराबाद में नौकरी की और दोनों भाई इस दुनिया को सदा के लिए साथ-साथ ही अलविदा कह गए। मेरठ कैंट क्षेत्र में रहने वाले दोनों जुड़वां भाइयों को पहले बुखार आया था। परिवार ने सामान्य बुखार मानते हुए घर पर ही दोनों का इलाज शुरू कर दिया। बुखार बढ़ने पर 1 मई को दोनों भाइयों को अस्पताल लाया गया, जहां पर उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। उपचार के कुछ दिन बाद उनकी दूसरी आरटी-पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव आई थी। जिसके चलते डॉक्टर उन्हें कोविड वार्ड से आईसीयू में शिफ्ट करने की योजना बना ही रहे थे, इसी बीच उन्होंने दम तोड़ दिया।

हर आंख हुई नम

माता-पिता को इस बात की चिंता थी की यदि दोनों मेंसे किसी एक को कुछ हो गया तो दूसरे को क्या जवाब देंगे। लेकिन नियति को कुछ और ही मंजूर था और दोनों एक साथ दुनिया से रुखसत हो गए। दोनों की मौत से परिवार ही नहीं मिलने वाले और पड़ोसी भी बेहद गमगीन हैं। क्योंकि हर शख्त ने दोनो भाईयों को और परिवार को हमेशा खुश देखा था और अब गम का पहाड़ टूट पड़ा। मरने के बाद भी इन दोनों ने साथ नही छोड़ा, दोनों की कब्र भी इसी की साक्षी है।