कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने उनके भाई को पुलिस व्दारा रोकने पर आपत्ति ली।
////

बुरहानपुर में कांग्रेस नेता और पुलिस अधिकारी की बहस का वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

बुरहानपुर। शहर में कोरोना कर्फ्यू के दौरान थाना प्रभारी और कांग्रेस जिलाध्यक्ष के बीच बहस का वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि कांग्रेस ग्रामीण जिलाध्यक्ष किशोर महाजन उनके एक रिश्तेदार की कार को पुलिस के व्दारा रोके जाने पर वहां पहुंचे थे। इसके बाद उनकी थाना प्रभारी से जमकर बहस हुई।

रिश्तेदार की कार रोकने पर हुआ हंगामा

बुरहानपुर में बुधवार शाम लालबाग थाना क्षेत्र के इंदिरा कॉलोनी के पास रावेर रोड पर कोरोना कर्फ्यू का पालन कराने की ड्यूटी में तैनात पुलिस और ग्रामीण कांग्रेस जिलाध्यक्ष का हाईप्रोफाईल पॉलिटिकल ड्रामा सामने आया है। दरअसल कांग्रेस ग्रामीण जिलाध्यक्ष किशोर महाजन के रिश्तेदार कार में घूम रहे थे। ड्यूटी में तैनात पुलिस कर्मियों ने उनसे घूमने का कारण पूछ लिया तो वह गुस्सा हो गए और उन्होने अपने भाई कांग्रेस ग्रामीण जिलाध्यक्ष किशोर महाजन को वहां बुलाया। बहस बढ़ती देख वहीं खडे लालबाग थाने के थाना प्रभारी एपी सिंह भी वहां पहुंच गए कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने भी उनके भाई को पुलिस व्दारा रोकने पर आपत्ति ली।

एक-दूसरे पर दुर्व्यवहार का लगाया आरोप

इस पर थाना प्रभारी एपी सिंह कांग्रेस जिलाध्यक्ष किशोर महाजन की काफी देर तक बहस हुई इस बहस में कांग्रेस जिलाध्यक्ष किशोर महाजन थाना प्रभारी एपी सिंह ने एक दूसरे पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाया। थाना प्रभारी ने उन्हें खुली चुनौती दी कि वह कांग्रेस कार्यकर्ताओं को बुला ले वीडियों में थाना प्रभारी कांग्रेस जिलाध्यक्ष को यह कहते नजर आए। क्या वह किसी अधिकारी को धमका सकते है. क्या? मामले की भनक शहर कांग्रेस अध्यक्ष अजय रघुवंशी पूर्व विधायक हमीद काजी और उपनेता प्रतिपक्ष अमर यादव को लगी तो सभी ने थाने पहुंचकर मामले को शांत कराया। जब मीडिया ने कांग्रेस नेताओं से घटना का क्या कारण रहा यह पूछने की कोशिश की तो सभी कांग्रेस कैमरे से बचते नजर आए।