////

मुर्गे ने ली मालिक की जान, अब अदालत में होगा पेश

Start

तेलंगाना। तेलंगाना में एक चौंकाने वाला कत्ल का मामला सामने आया है। इसमें एक मुर्गे पर अपने मालिक के कत्ल का आरोप लगा है। कत्ल के आरोपी मुर्गे को पुलिस ने पकड़ लिया और बाद में उसको एक फार्म हाउस में भेज दिया गया।

मुर्गों की लड़ाई में हुआ हादसा

मुर्गे के द्वारा मालिक के कत्ल का मामला तेलंगाना के लोतुनुर गांव का है, जहां पर मुर्गों की अवैध लड़ाई का कार्यक्रम आयोजित किया गया था। स्थानीय पुलिस के मुताबिक मुर्गे को लड़ाई के लिए तैयार किया जा रहा था और उसी दौरान उसने भागने की कोशिश की। मुर्गे के मालिक ने उसको पकड़ने की कोशिश की। लड़ाई के लिए मुर्गे के पंजों में 3 इंच लंबाई वाले चाकू बांधे गए थे। मालिक और मुर्गे के बीच भी पकड़ने के दौरान संघर्ष हुआ। मुर्गे के पंजों में लगे चाकू से उसके मालिक को गंभीर चोटें आईं। घायल मालिक को तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन ज्यादा ख़ून बह जाने की वजह से उसकी मौत हो गई।

पुलिस कर रही है 15 लोगों की तलाश

पुलिस अब मुर्गों की इस अवैध लड़ाई के आयोजन में शामिल 15 लोगों की तलाश कर रही है। पुलिस ने इन लोगों पर हत्या, अवैध सट्टेबाजी और मुर्गों की लड़ाई आयोजित करने के आरोप लगाए हैं। मुर्गे को अब अदालत में पेश किया जाएगा। मुर्गे की लड़ाई में मालिक की मौत का यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी मुर्गे के पंजे में लगी ब्लेड से एक व्यक्ती की मौत हो चुकी है। भारत में मुर्गों की लड़ाई पर 1960 से प्रतिबंध लगा हुआ है, इसके बावजूद यह सिलसिला बदस्तूर जारी है। तेलंगाना और आंध्रप्रदेश के ग्रामीण इलाकों में इस तरह के आयोजन आयोजित किए जाते हैं।