/

बिल गेट्स-वॉरेन बफ़ेट बनाने जा रहे हैं ‘नेट्रियम’ न्यूक्लियर प्लांट, जानिए इसकी खासियतें

इससे क़रीब चार लाख घरों में बिजली की ज़रूरत को पूरा किया जा सकता है।

अमेरिका। दुनिया के दो दौलतमंद दिग्गज स्वच्छ ऊर्जा के क्षे्त्र में अपने कदम बढ़ा रहे हैं। बिल गेट्स और वारेन बफ़ेट एक विशेष किस्म का न्यूक्लियर पावर प्लांट बनाने जा रहे हैं। इस प्लांट को उन्होंने ‘नेट्रियम’ नाम दिया है और दोनों ने इसका पेटेंट भी करवा लिया है। बिल गेट्स इस प्रॉजेक्ट पर वॉरेन बफ़ेट के साथ मिलकर करोड़ों डॉलर का निवेश कर रहे हैं। ये प्लांट अमेरिका के व्योमिंग राज्य में बनाया जाएगा और ये गेट्स के जलवायु परिवर्तन के ख़िलाफ़ लड़ाई और नवीकरणीय ऊर्जा को बढ़ावा देने के लक्ष्य का एक हिस्सा है।

नेट्रियम है पावर सिस्टम

नेट्रियम रिऐक्टर एक एकीकृत पावर सिस्टम है, जिसमें परमाणु ऊर्जा कीअनेक संभावनाएं छिपी हुई हैं। टेरापावर की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक़ ये ऊर्जा उत्पादन और भंडारण की नई तकनीक है, जिसमें तेज़ सोडियम रिऐक्टर और तरल नमक से भंडारण की तकनीक को साथ में उपयोग किया जाता है और ये 345 मेगावाट बिजली के उत्पादन की क्षमता रखता है।

अमेरिका से मिला है आर्थिक पैकेज

ऊर्जा संग्रहण की इस नई तकनीक से कंपनी के मुताबिक़ ये भंडारण तकनीक ज़रूरत पड़ने पर साढ़े पांच घंटे तक 500 मेगावाट बिजली की आपूर्ति कर सकती है. इससे क़रीब चार लाख घरों में बिजली की ज़रूरत को पूरा किया जा सकता है। 15 साल पहले बिल गेट्स की बनाई कंपनी ‘टेरापावर’ इसी आधार पर इस प्रॉजेक्ट पर काम कर रही है. इसमें वॉरेन बफ़ेट की ऊर्जा क्षेत्र की कंपनी ‘पैसिफ़िकॉर्प’ भी शामिल है. नेट्रियम प्रॉजेक्ट के लिए टेरापावर को अमेरिकी ऊर्जा विभाग से आठ करोड़ डॉलर का आर्थिक पैकेज मिला है।