////

Ajit Singh: RLD प्रमुख चौधरी अजीत सिंह का कोरोना से निधन, मेदांता में ली अंतिम सांस

Start

Ajit Singh: कोरोना वायरस की वजह से भारतीय राजनीति के एक और राजनेता का निधन हो गया। राष्ट्रीय लोकदल के प्रमुख और पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजीत सिंह का कोरोना के चलते निधन हो गया। कोरोना संक्रमित पाए जाने पर उनको पिछले दिनों गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाया गया था, हां उन्होंने आखिरी सांस ली।

24 अप्रैल को हुए थे कोरोना पॉजिटिव

86 साल के चौधरी अजीत सिंह 24 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। स्वास्थ में कोई सुधार न होने पर उनको भर्ती गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन हालत और बिगड़ने पर वो पिछले चार-पांच दिन से वेंटिलेटर पर थे। गुरुवार की सुबह उन्होंने दम तोड़ दिया। चौधरी अजीत सिंह के निधन पर देश के दिग्गज राजनेताओं ने शोक जताते हुए उनको भारतीय राजीनि का महान नेता बतलाया है। उनकी गिनती बड़े जाट नेताओं में होती थी ऐर पश्टिमी उत्तर प्रदेश के जाट बहल इलाकों पर उनकी अच्छी पकड़ मानी जाती थी, लेकिन पिछले लोकसभा और उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा था।

12 फरवरी 1939 को हुआ था जन्म

पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के बेटेअजित सिंह का जन्म 12 फरवरी 1939 को मेरठ में हुआ था। उन्होंने आईआईटी खड़गपुर से कंप्यूटर साइंस में बीटेक और इलिनॉइस इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से मास्टर की डिग्री हासिल की थी। ऐसा कहा जाता है कि 1960 के दशक में आईबीएम में काम करने वाले वह पहले भारतीय थे। वह पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बागपत से 7 बार सांसद रह चुके हैं। मनमोहन सिंह की सरकार में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री रह चुके हैं। वहीं, अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में कृषि मंत्री भी रह चुके थे। उनके बेटे का नाम जयंत चौधरी है, जो 15वीं लोकसभा में मथुरा से सांसद रह चुके हैं।

समाजवादी पार्टी ने चौधरी अजित सिंह को ट्वीट कर श्रद्धांजली देते हुए कहा है,’ ‘राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष, पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजीत सिंह जी का निधन, अत्यंत दुखद! आपका यूं अचानक चले जाना किसानों के संघर्ष और भारतीय राजनीति में कभी ना भरने वाली जगह छोड़ गया है। शोकाकुल परिजनों के प्रति संवेदना! दिवंगत आत्मा को शांति दे भगवान।’