////

पेट्रोल पंप खुलवाने के नाम पर सीआरपीएफ जवान से की 33 लाख रुपए की ठगी

करीब 33 लाख रुपए लेकर दंपति फरार हो गए।

भोपाल। पेट्रोल पंप खुलवाने के नाम पर शातिर दंपती ने सीआरपीएफ जवान और उनकी पत्नी से 33 लाख रुपए हड़प लिए। वर्ष 2018 में दोनों ने खाते के जरिए और नकद राशि ऐंठी थी। जालसाजों ने अपनी दिल्ली के कई अफसरों से पहचान बताकर जवान और उनकी पत्नी को चूना लगाया। रकम देने के बाद भी जब पंप नहीं खुला तो महिला ने मिसरोद पुलिस से इसकी शिकायत की थी। जांच के बाद पुलिस ने जालसाज दंपति के खिलाफ अमानत में खयानत का केस दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है.

लोन लेकर दिए 33 लाख

पेट्रोल पंप खुलवाने के नाम पर ठगी की ये वारदात मूलत: महाराष्ट्र निवासी 37 वर्षीय कीर्ति और उनके पति संतोष बराड़े के साथ हुई। संतोष सीआरपीएफ में जवान हैं और इन दिनों कश्मीर में पदस्थ हैं। सीआरपीएफ कैंप बंगरसिया में रहने वाले संतोष की पहचान सलैया निवासी तुषार मलिक और उसकी पत्नी सोनाली मलिक से हो गई। तुषार ने संतोष को पेट्रोल पंप खुलवाने का लालच दिया। मेरी दिल्ली के अफसरों से अच्छी पहचान है। एक करोड़ रुपए का काम महज 30-35 लाख रुपए में करवा दूंगा। झांसे में आकर बराड़े दंपती ने रिश्तेदारों से कर्ज और पर्सनल लोन लेकर उन्हें 33 लाख रुपए दे दिए। इसके बाद दोनों ने मकान छोड़ फ़रार हों गए।

पुलिस कर रही है आरोपियों की तलाश

इस मामले में एएसपी राजेश सिंह भदोरिया का कहना है कि पुलिस ने पीड़ित दंपति की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है।