/

सड़कों पर उतरने के लिए क्यों मजबूर हुआ नर्सिंग स्टाफ ?

अशोकनगर। कोरोना महामारी के विकट काल में अपनी जान की चिंता किए बगैर ड्यूटी देने वाला नर्सिंग स्टॉफ सड़को पर उतर आया है। मध्य प्रदेश के अशोकनगर में नर्सेज एसोसिएशन के बैनर तले नर्सिंग स्टॉफ अनिश्चित कालीन हड़ताल पर है। स्टाफ द्वारा जिला अस्पताल के मुख्य द्वार पर कुर्सियां डालकर हड़ताल की गई है।

एसोसिएशन ने एक दिन पहले ही कलेक्टर, सीएमएचओ और सिविल सर्जन के नाम का एक ज्ञापन प्रशासनिक अधिकारियों को दिया हैं, जिसमें मध्यप्रदेश में कार्यरत स्टाफ नर्सेस की लंबित मांगों के निराकरण की मांग की गई थी। मीडिया प्रभारी सरिता डांगे ने बताया कि एसोसियेशन द्वारा कई बार शासन और प्रशासन को ज्ञापन के माध्यम से नर्सेस की लंबित मांगों को लेकर समय-समय पर अवगत कराया जाता रहा है लेकिन अभी तक इन मांगों पर विचार नहीं किया गया है।

बतादें कि कोरोनाकाल में शहीद हुए स्टॉफ नर्सेस के परिजनों को अनुकंपा नियुक्ति दिए जाने के साथ 15 अगस्त को राष्ट्रीय कोरोना योद्धा अवार्ड से सम्मानित किए जाने की मांग भी की जा रही है। अब देखना है की नर्सिंग स्टॉफ की मांगे पूरी की जाती है या नहीं।

मृदुभाषी के लिए अशोकनगर के लिए विवेक शर्मा की रिपोर्ट