/

किसान आंदोलन का गुना में दिखा असर, रैली निकलते ही बंद हुए बाजार

गुना। अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर तमाम विपक्षी दलों द्वारा गुना में भी बंद कराया गया। सुबह लगभग 11 बजे किसान संगठनों और कांग्रेस की संयुक्त रैली शहर में निकली। रैली ने जैसे ही प्रमुख बाजारों का रुख किया व्यापारियों ने अपने-अपने प्रतिष्ठानों के शटर गिरा दिए। इसके बाद जिन-जिन क्षेत्रों से होकर रैली निकल गई, वहां दोबारा दुकानें खुल गईं।

गुना बंद कराने के लिए निकले अखिल भारतीय किसान समन्वय संघर्ष समिति के सदस्यों ने शहर के तमाम बाजारों में प्रधानमंत्री और केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। जिला मुख्यालय के अलावा जिले के राघौगढ़, कुंभराज, चांचौड़ा और आरोन में भी बंद का मिला-जुला असर देखा गया। हालांकि बाद में विपक्षी दलों ने बंद को पूर्णत: सफल बताया। उनका दावा था कि कृषि बिलों के खिलाफ किसानों में जमकर आक्रोश है।

यही आक्रोश आज भारत बंद के दौरान देखा गया। प्रदर्शन के दौरान किसी तरह की अप्रिय स्थिति निबटने के लिए गुना पुलिस बाजार के चप्पे-चप्पे पर तैनात थी। गुना एसपी ने ब्लॉक मुख्यालयों पर भी पुलिस अमले को सतर्क रहने के निर्देश दिए थे। हालांकि कहीं से भी विवाद या मुंहवाद की खबरें नहीं आईं।