Sukhjinder Singh Randhawa: सुखजिंदर रंधावा का नाम पंजाब सीएम के लिए लगभग तय

चंडीगढ़। कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के 24 घंटे बाद कांग्रेस ने आखिर पंजाब के नए CM का नाम तय कर लिया है। कुछ देर में इसका ऐलान होने वाला है। सूत्रों का कहना है कि पंजाब कांग्रेस में सुखजिंदर सिंह रंधावा (सुक्खी) के नाम पर सहमति बन गई है और हाईकमान को नाम भेज दिया गया है। खबर ये भी है कि रंधावा ने राज्यपाल से मिलने का समय मांग लिया है वे घर से निकल चुके हैं। माना जा रहा है कि वे राजभवन जा रहे हैं और आज ही शपथ ग्रहण भी हो सकता है, क्योंकि कल से श्राद्ध पक्ष शुरू हो रहा है।

आइए जानते हैं कौन हैं सुखजिंदर सिंह रंधावा जो बनेंगे पंजाब के नए मुख्यमंत्री

62 साल के सुखजिंदर सिंह रंधावा, कैप्टन अमरिंदर सिंह की कैबिनेट में जेल और सहकारिता मंत्री रह चुके हैं. पंजाब के माझा क्षेत्र के गुरदासपुर ज़िले के रहने वाले रंधावा तीन बार के कांग्रेस विधायक रहे हैं और 2002, 2007 और 2017 में निर्वाचित हुए हैं. वह राज्य कांग्रेस के उपाध्यक्ष और एक जनरल सेक्रेटरी के पद पर रह चुके हैं. वह एक कांग्रेस परिवार से आते हैं. उनके पिता संतोख सिंह दो बार राज्य कांग्रेस अध्यक्ष थे और माझा क्षेत्र में मशहूर शख्सियत भी। बाद में नवजोत सिंह सिद्धू के सुर में सुर मिलाते हुए उन्होंने चुनावी वादों को पूरा ना कर पाने का आरोप लगाते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह के ख़िलाफ़ खुला विद्रोह भी किया ।

बादल परिवार के खिलाफ रहे हैं आक्रमक

सुखजिंदर सिंह रंधावा, बादल परिवार के ख़िलाफ़ बहुत आक्रामक रहे हैं। रंधावा ने 2015 में पंजाब में गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी और उसके बाद पुलिस फ़ायरिंग में दो युवकों की मौत के मामलों में आरोपियों पर मुक़दमा न चलने का मुद्दा उठाया था।