////

जेल में कैदियों के बीच हुआ खूनी खेल, इस वजह से हुआ विवाद

इंदौर की जिला जेल में दो गुटों के बीच झड़प हुई है।

इंदौर। इंदौर की जिला जेल में एक बार फिर कैदियों के बीच विवाद की घटना सामने आई है। जिला जेल में बंद कैदी किसी बात को लेकर अंदर ही जमकर लड़े लड़ाई में एक कैदी को गंभीर चोटें आई है। घायल कैदी को जेल प्रबंधक ने इलाज के लिए इंदौर के एमवाय हॉस्पिटल में भर्ती करवाया है।

गिरोह में आपस में हुआ विवाद

शुक्रवार को जेल के अंदर ड्र्ग्स माफियाओं के दो गिरोह में आपस में विवाद हो गया। इस विवाद के बाद एक पक्ष ने दूसरे पक्ष के शादाब पर नुकीली वस्तुओं से हमला कर दिया, जिसमें शादाब को गंभीर चोटें आई है। फ़िलहाल विवाद पुराने कारणों के चलते हुआ, फिलहाल जेल प्रबंधक ने जेल के अंदर मारपीट करने वाले चार कैदियों की शिकायत संयोगितागंज पुलिस को की है। वही सयोगितगंज पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर पूरे मामले की विवेचना शुरू कर दी है।

ड्रग्स माफिया के दो गिरोह बन्द है जेल में

गौरतलब है इंदौर की जिला जेल में इसके पहले भी इस तरह के विवाद सामने आ चुके हैं वही बताया जा रहा है कि इंदौर की जिला जेल में ड्रग्स माफिया के दो गिरोह बन्द है और उन्हीं गिरोह में किसी बात को लेकर विवाद हो गया। उसके बाद जेल में ही मौजूद एक जेल प्रहरी के द्वारा गैंग में जेल के अंदर राजीनामा करवाने के लिए मीटिंग का आयोजन किया गया था। इसी दौरान दोनों गैंग में विवाद हो गया और विवाद के चलते एक गैंग ने दूसरे गैंग से जुड़े शादाब पर नुकीली वस्तु से हमला कर उसे घायल कर दिया।

जेल प्रहरी की भूमिका है संदिग्ध

फिलहाल इस पूरे घटनाक्रम के सामने आने के बाद जेल प्रबंधक ने जेल प्रहरी दीपक तिवारी को सस्पेंड कर दिया प्रारंभिक जांच में जेल प्रहरी की भूमिका संदेहास्पद पाई गई है। वहीं पूरे मामले की सूचना भी अधिकारियों को दे दी गई है आने वाले दिनों में आला अधिकारी इंदौर की जिला जेल में पदाधिकारियों पर सख्त कार्रवाई कर सकते हैं।