//

उज्जैन में कोरोना की तीसरी लहर की तैयारी शुरू,बच्चों के लिए विशेष व्यवस्था के निर्देश

उज्जैन में कोरोना की तीसरी लहर की तैयारी शुरू

उज्जैन। एक तरफ कोरोना की दूसरी लहर ने तबाही मचाई हुई है। इसी बीच उज्जैन में संभवत कोरोना की तीसरी लहर को लेकर तैयारी शुरू हो गई है। वैज्ञानिकों द्वारा लगातार कोरोना की तीसरी लहर की संभावनाएं बताई जा रही है। इसी को देखते हुए उज्जैन प्रशासन ने तीसरी लहार से निपटने की तैयारीयां शुरू कर दी है।

कोरोना की दूसरी लहर में लाखों लोग इसकी चपेट में आए और हजारों की तादाद में लोगों की जान भी गई। कोरोना की दूसरी लहर की भारत में किसी ने कलपना भी नहीं की थी। कोरोना संक्रमितों के लिए समय पर अस्पतालों में ना बेड मिल पा रहे थे ना ही दवाइयां इन इमरजेंसी सुविधा के ना मिलने से भी कई लोगों ने अपना दम तोड़ दिया । लेकिन अब तीसरी लहर आने की संभावनाए बताई जा रही है। जिसको ध्यान में रखते हुए अब स्वास्थ्य चिकित्सा को बढ़ाने में लग गया है। इसका एक उदाहरण देखने को मिला उज्जैन में जहां तीसरी लहर की तैयारी के चलते चरक भवन में बच्चों के लिए वर्तमान में संचालित 15 आईसीयू और 60 जनरल ऑक्सीजन बेड कोविड के लिए आरक्षित करने की तैयारी की जा रही है। साथ ही माधवनगर में 30 और चरक की पांचवी मंजिल पर 30 नए आईसीयू बेड वयस्क कोरोना मरीजो के लिए आरक्षित तैयार करने के निर्देश दिए गए है।

उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह ने चरक हॉस्पिटल का दौरा किया तथा अस्पताल के प्रथम तल एवं छठी मंजिल का निरीक्षण किया। कलेक्टर ने कहा कि विशेषज्ञों द्वारा यह आशंका व्यक्त की गई है कि तीसरी लहर में बच्चे अधिक संक्रमित होंगे। जिसकी अभी से तैयारी की जा रही है। इसी के साथ मनीष सिंह ने आवश्यक संसाधन जुटाने व निर्माण कार्य समय पर पूर्ण करने व पृथक से एंट्री एग्जिट बनाने के लिए भी कहा है ।