///

कांच से होते हैं रिश्ते प्रभावित, जानिए कैसे

कांच का उपयोग करते समय खास ऐहतियात बरतना चाहिए।

मृदुभाषी न्यूज। गृहों से जीवनचक्र चलता है और जिंदगी के सफर के मायने भी गृहों की दशा से तय होते हैं। गृहों का संबंध अनेकों वस्तुओं से होता है। शनिदेव का लोहे से संबध होता है तो सोने का बृहस्पति से संबंध होता है। इसी तरह कांच का संबंध शुक्र से होता है। कांच की वस्तुओं का प्रयोग करने से जीवन में शुक्र की दशा प्रभावित होती है।

कांच का संबंध है शुक्र ग्रह से

ग्रहों से जुड़ी वस्तुओं के रंग और उनकी तरंग मानव के जीवन पर प्रभाव डालती है। कांच का संबंध शुक्र ग्रह से है इसलिए कांच के प्रयोग में कुछ ऐहतियात बरतना चाहिए, जिससे आपके जीवन का सुख और समृद्धि वाला पक्ष मजबूत रहे। हमारे रोजमर्रा के जीवन में कांच की वस्तुओं का उपयोग कम करना चाहिए।

कांच के सामानों का ज्यादा प्रयोग करने से रिश्तों में बिखराव आने लगता है। अर्थात रिश्ते संवेदनशील हो जाते हैं। कांच की मेज घर में होने से रिश्ते तनावपूर्ण हो जाते हैं। कांच के बर्तनों का ज्यादा प्रयोग जीवन में आनंद की मात्रा को कम कर देते हैं। इसलिए पारिवारिक और दांपत्य सुख के लिए जीवन में कांच का कम से कम प्रयोग करें।

आइने का करें ऐसे प्रयोग

आईना आपके जीवन की हकीकत का प्रतिबिंब होता है। यह हर वस्तु को दोगुना कर देता है इसलिए घर में आईने का प्रयोग भी सावधानी से करना चाहिए। घर में जरूरत के हिसाब से आईने लगाएं। ज्यादा आईने दिक्कतें बढ़ाते हैं। आईने वाली जगह पर प्रकाश की उचित व्यवस्था करें। बेडरूम में कभी भी पैरों की तरफ आईना न लगाएं। टूटा हुआ आईना कभी भी घर में न रखें।

खिड़कियों में न लगाएं पारदर्शी कांच

घर के दरवाजे और खिड़कियों में कांच लगाते समय खास ख्याल रखें। खिड़की दरवाजों के कांच पारदर्शी न होकर धूंधले होना चाहिए। हमेशा कांच की चीजों को उपहार में देने से बचना चाहिए। सपने में कांच दिखने से नए रिश्तों की शुरूआत हो सकती है और कांच टूटता हुआ दिखाई दे तो रिश्ते टूट सकते हैं या आपकी सेहत खराब हो सकती है।