/////

ऑनलाइन क्रिकेट सट्टा का पर्दाफाश, ऐसे करते थे ये काम

पुलिस का कहना है कि इस गिरोह के तार दूसरे राज्यों से भी जुड़े हुए हैं.

उज्जैन। उज्जैन की साइबर सेल पुलिस ने अंतरराज्यीय ऑनलाइन क्रिकेट सट्टा के कारोबार को करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए गिरोह के 7 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों से 5,27000 रुपये और एक लैपटॉप ,सूटकेस, ऑनलाइन मशीन और 12 मोबाइल साहित कार जप्त की है।

कई राज्यों में फैला है अवैध कारोबार

यह गिरोह ऑनलाइन लिंक के जरिए क्रिकेट और अन्य खेलों पर सट्टा खाईवाल करता था। इसके तार मध्य प्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा सहित अन्य राज्यों से भी जुड़े हुए हैं। पुलिस ने गिरोह के दो मुख्य सदस्य जो कि पुणे के रहने वाले हैं, को भी हिरासत में लिया है। वही 5 आरोपी उज्जैन के बताए जा रहे हैं। दो आरोपी अभी फरार हैं। शहर में ऑनलाइन क्रिकेट सट्टा कारोबारी गिरोह के लोग अन्य शहरों से आकर ऑनलाइन लिंक के माध्यम से आईडी पासवर्ड प्रदान कर और धोखाधड़ी कर अवैध लाभ कमाते थे। इसकी सूचना मिलने पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए अंतर राज्य ऑनलाइन क्रिकेट सट्टा कारोबारी गिरोह को हिरासत में लिया है। मुख्य सरगना और दो आरोपी पुणे के बताए जा रहे हैं, वहीं पांच आरोपी उज्जैन के हैं और दो आरोपी अभी फरार हैं।

मुख्य सरगना है उज्जैन का

एसपी सत्येंद्र शुक्ला ने बताया कि मुखबिर के माध्यम से सूचना प्राप्त हुई थी कि शहर में ऑनलाइन क्रिकेट सट्टा करने वाले गिरोह सक्रिय है। जिसमें गिरोह के मुख्य सरगना भी उज्जैन में मौजूद हैं। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर कार्रवाई करते हुए उज्जैन के ऋषि नगर से इस गिरोह को हिरासत में लिया। बताया जाता है कि आरोपी लिंक के माध्यम से क्रिकेट सट्टा और अन्य खेलों पर सट्टे का अवैध कारोबार करते थे, जिनके तार मध्य प्रदेश, गुजरात, गोवा और अन्य राज्यों से जुड़े हुए हैं।

ऑनलाइन लिंक से लगता था सट्टा

पुलिस ने गिरोह के दो मुख्य आरोपियों को उज्जैन की अंजूश्री होटल से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी एडमिन बनकर ऑनलाइन लिंक के माध्यम से क्लाइंट को 10000 से लेकर 100000 तक का बैलेंस डलवा कर आईडी पासवर्ड विक्रय करते थे। फिर क्लाइंट अपने कस्टमर को रुपया में आईडी पासवर्ड देता था। इस प्रकार आईडी पासवर्ड के माध्यम से ऑनलाइन क्रिकेट सट्टा धोखाधड़ी कर हार जीत का दाव लगाते थे। इसके अतिरिक्त आरोपी सूटकेस का ऑनलाइन क्रिकेट सट्टा कारोबारी की मशीन के माध्यम से भी ऑनलाइन क्रिकेट सट्टा धोखाधड़ी कर करोड़ों रुपए की हार जीत लगाते थे। पुलिस ने सभी आरोपियों को हिरासत में लेकर उनसे 527000 रुपए सहित कार, लैपटॉप, सूटकेस और मोबाइल बरामद किए हैं। सभी आरोपियों को न्यायालय में पेश कर रिमांड मांगा जाएगा ताकि आरोपियों से विस्तृत पूछताछ की जा सके।