/

रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ाया अधिकारी

उज्जैन। उज्जैन के कृषि मंडी के 2 सहायक निरीक्षकों को लोकायुक्त ने 2 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। दोनों ने जब्त किए गए ठेले को छोड़ने के एवज में 8 हजार रुपए मांगे थे। आरोपी राकेश रायकवार और सत्यनारायण बजाज हैं।

बतादें कि भागीरथ प्रसाद (50) निवासी शिव शक्ति नगर है। वह पेशे से हम्माल है। 17 जुलाई को उसका ठेला चोरी हो गया था। पता चला कि कोई बदमाश उसके ठेले पर कृषि मंडी से अनाज चुराकर ले गया। मंडी निरीक्षक सत्यनारायण ने बदमाश को पकड़ लिया। आरोपी को तो पुलिस को सौंप दिया और ठेला जब्त कर लिया। भागीरथ प्रसाद को इसका पता चला, तो वह ठेले को छुड़ाने के लिए मंडी पहुंचा। यहां ठेला छोड़ने के एवज में राकेश और सत्यनारायण ने 8 हजार रुपए मांगे। भागीरथ ने इसमें असमर्थता जताई। उसने दोनाें के सामने हाथ-पैर भी जोड़े, लेकिन दोनों अड़े रहे। इसके बाद 5 हजार रुपए मांगे। आखिरकार 2 हजार रुपए में डील पक्की हो गई। सत्यनारायण ने भागीरथ से राकेश को रुपये देने के लिए बोला था। भागीरथ ने लोकायुक्त में शिकायत कर दी।

इसके बाद लोकायुक्त डीएसपी वेदांत शर्मा ने इन्हें पकड़ने के लिए जाल बिछाया। सोमवार को जब राकेश को रुपए दिए, तो शर्मा ने रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। लोकायुक्त डीएसपी वेदांत शर्मा ने बताया, मुख्य आरोपी सत्यारायण अभी पकड़ में नहीं आया है। उसे भी आरोपी बनाया है। उसके साथी राकेश रायकवार के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।