///

केरल में तीसरी लहर की दस्तक? देश में 4.03 लाख सक्रिय मामलों में से 1.5 लाख केरल से

Start

नई दिल्ली। भारत में कोरोना संक्रमण के नए मामले फिर बढ़ने लगे हैं। 43,509 नए मामले पिछले 24 घंटे में सामने आए हैं। इसमें से सबसे अधिक नए मामले केरल के हैं। केरल में कोरोना के मामलों में हर दिन उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है। इसे कोरोना की तीसरी लहर की शुरुआता माना जा रहा है। सरकारी सूत्रों ने कहा कि देश में 4.03 लाख सक्रिय मामलों में से 1.5 लाख अकेले केरल से हैं, जो कुल मामलों का 37 प्रतिशत से अधिक मामलों में हैं।

केरल में लगातार दूसरे दिन 22 हजार से अधिक मरीज मिले

सूत्रों ने कहा कि पिछले 8 हफ्तों में, राज्य में दैनिक मामलों में 13 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है। केरल में लगातार दूसरे दिन 22 हजार से अधिक नए मरीज मिले हैं, जो एक दिन में देशभर में मिले कुल मरीजों के आधे से अधिक है। बुधवार को प्रदेश में 22,056 मामले मिले जबकि एक दिन पहले 22,129 केस मिले थे। केरल में मरने वालों की संख्या भी बढ़ रही है। गुरुवार सुबह 150 से अधिक मौतें हुईं, हालांकि यह आंकड़ा 227 से कम है, जो जून के पहले सप्ताह में रिपोर्ट किया गया। पिछले आठ हफ्तों में, प्रतिदिन मौतों की सीमा 97 और 174 के बीच रही है। साप्ताहिक सकारात्मकता दर 10.5 प्रतिशत से 14.8 प्रतिशत के बीच रही है। पिछले आठ हफ्तों में यह आंकड़ा 10 फीसदी से नीचे नहीं गया है। हालांकि पिछले आठ हफ्तों में औसत दैनिक परीक्षण में 13 प्रतिशत की गिरावट आई है। 3 जून से 9 जून के बीच, औसत दैनिक परीक्षण 1,11,000 से अधिक थे।

मुंबई समेत महाराष्ट्र के 25 जिलों में पाबंदियों में ढील

महाराष्ट्र में कोरोना की दूसरी लहर के कमजोर होने के साथ-साथ सरकार ने लॉकडाउन में ढील देना शुरू कर दिया है। महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई समेत राज्य के 25 जिलों में लॉकडाउन में ढील दी है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की अध्यक्षता में गुरुवार को कोविड टस्क फोर्स की बैठक में अहम फैसला लेते हुए प्रदेश के कई जिलों में पाबंदियों में ढील दी गई है। बैठक के बाद सरकार के फैसले की जानकारी राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने दी और कहा कि लिस्ट में उन जिलों को शामिल किया गया है, जहां कोरोना की पॉजिटिविटी रेट, ग्रोथ रेट औसत से कम है।