1500 की आबादी वाले इस गांव में मात्र 14 लोगों ने ही वैक्सीन लगवाई.
///

Coronavirus: वैक्सीन लगाने गई टीम तो भयभीत होकर ग्रामीण गांव से भाग गए और नदी में कूद पड़े

Coronavirus: कोरोना वायरस का खौफ लोगों के दिल-दिमाग पर इस हद तक छाया हुआ है कि वह खुद को सुरक्षित करने के लिए हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। लोग टीके को कोरोना का कारगर उपाय मान रहे है, लेकिन कुछ जगहों पर लोग वैक्सीन से भी खौफ खा रहे हैं और इससे बचने के लिए हरसंभव प्रयास कर रहे हैं। ऐसा ही एक वाकिया उत्तर प्रदेश के बाराबंकी से सामने आया है।

वैक्सीन से भयभीत हुए ग्रामीण

ग्रामीणों में कोरोना वैक्सीन को लेकर गलतफहमी और खौफ इस कदर समा चुका है कि वो इससे बचने के हरसंभव उपाय करने लगे हैं। ऐसा ही एक मामला बाराबंकी से सामने आया है, जहां सिसौड़ा गांव में वैक्सीन लगाने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम को देख कर लोग भयभीत हो गए और वैक्सीन से बचने के लिए लबालब भरी सरयू नदी में छलांग लगा दी। यह देखकर स्वास्थ्य विभाग की टीम सकते में आ गई और लोगों से नदी के बाहर आने के लिए निवेदन करने लगी। एसडीएम के काफी समझाने के बाद ग्रामीण नदी से बाहर आये और वैक्सीन लगवाई।

155 की आबादी में से 14 ने लगवाए वैक्सीन

जैसे ही ग्रामीणों को स्वास्थ्य विभाग की टीम वैक्सीन लगाने के लिए गांव में आने की सूचना मिली ग्रामीण डर गए और वह गांव के बाहर बह रही सरयू नदी के किनारे आकर बैठ गए। स्वास्थ्य विभाग की टीम को जब यह सूचना मिली कि ग्रामीण नदी की ओर गए है तो वे उन्हें समझाने के लिए चल दिये। टीम को आता देख कर ग्रामीण इतने भयभीत हो गए कि उन्हें भागने का जब कोई रास्ता नहीं सूझा तो उन्होंने टीम से बचने के लिए सरयू नदी में छलांग लगा दी। काफी समझाने के बाद भी ग्रामीण बाहर निकलने को तैयार नहीं थे। इसके बाद 1500 की आबादी वाले इस गांव में मात्र 14 लोग ही वैक्सीन लगवाने की हिम्मत जुटा सके।