///

Coronavirus: अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए बेड नहीं, रेलवे के आइसोलेशन कोच कर रहे हैं मरीजों का इंतजार

Start

Janta Curfew Indore: इंदौर में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह ने जनता कर्फ्यू लागू किया हुआ है। प्रशासन लगातार इस जनता कर्फ्यू का सख्ती से पालन करवा रहा है। साथ ही इंदौर में बेवजह घूमने वालों को सज़ा के तोर पर अस्थाई जेल तक भेजा जा रहा है।

इंदौर की व्यस्त सड़के दिखी सुनी

प्रशासनिक अमला इंदौर में जनता कर्फ्यू का पालन कराने के लिए हल्की-फुल्की सख्ती का इस्तेमाल करता हुआ नज़र आ रहा है। इंदौर की व्यस्त सड़कों पर कुछ ही इक्का- दुक्का गाड़िया नज़र आ रही है। इसी के साथ कुछ चौराहो पर पुलिस चैकिंग कर लोगों से उठक बैठक करवाती हुई भी नज़र आ रही है । गौरतलब है की इंदौर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है। शासन-प्रशासन के लिए स्थिति को इस वक्त काबू में करना बेहद ज़रूरी है। जिसके तहत इंदौर प्रशासन जनता से लगातार जनता कर्फ्यू के नियमों का पालन करने की अपील कर रहा है। गौरतलब है की जनता कर्फ्यू में बेवजह घूमने वालों को इंदौर कलेक्टर की आदेश के अनुसार अस्थाई जेल भी भेजा जा रहा है।

रेलवे के आइसोलेशन कोच को मरीजों का है इंतजार

देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते खौफ और बड़े शहरों के अस्पतालों में बेड की किल्लत को देखते हुए पश्चिम रेलवे ने ट्रेनों के कई कोच को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील कर दिया है। मध्यप्रदेश के इंदौर में रेलवे ने 78 कोच आइसोलेशन के लिए बना दिए हैं, लेकिन इसके बावजूद जिला प्रशासन द्वारा आज तक एक भी आइसोलेशन कोच का उपयोग नहीं किया गया। यह कोच जब से तैयार किए गए, तभी से लक्ष्मीबाई नगर स्टेशन और पलया स्टेशन पर खड़े हैं।

रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी जितेन्द्र कुमार जयंत ने कहा कि हमें जैसे निर्देश मिले थे, उसी के अनुसार समय पर हमने आइसोलेशन वार्ड तैयार करके दिए थे। सभी कोच सर्व सुविधा युक्त तैयार किए गए हैं। गौरतलब है कि रेलवे ने पिछले वर्ष भी लगभग 80 कोच आइसोलेशन के लिए तैयार किए थे, लेकिन आखिर तक वह कोच मरीजों का इंतजार करते रहे।