/

गौरी सरोवर पर बयान देकर फंसे भिंड बीजेपी जिला अध्यक्ष

भिंड। एमपी में मंत्रियों को जिले के प्रभार दिए जाने के बीस दिन बाद आखिरकार भिंड जिले के प्रभारी मंत्री गोविंद सिंह राजपूत गुरुवार को भिन्ड प्रवास पर आ रहे है। जहां एक ओर मंत्री के आने से पहले ही उनके कार्यक्रमों की तैयारियां शुरू हो गयी है, वहीं दूसरी ओर प्रशासनिक कार्यक्रम में सत्ता का हस्तक्षेप भी देखने को मिल रहा है।

प्रभारी मंत्री गुरुवार को भिंड जिला मुख्यालय पर पौधारोपण भी करना है, जिसके लिए भिंड का ऐतिहासिक गौरी सरोवर किनारा प्रशासन द्वारा तय किया गया है। जब भिंड कलेक्टर और एसपी समेत अन्य प्रशासनिक अधिकारी पौधारोपण के लिए गौरी सरोवर के किनारे जगह चिन्हित करने पहुंचे तो बीजेपी के जिला अध्यक्ष नाथू सिंह गुर्जर ने आमजन की भावनाएं आहत करने वाला बयान दे दिया। उनका यह कहना है कि, उनके हिसाब से पौधारोपण किसी अन्य जगह पर किया जाना चाहिए इस तरह गली कूचे में पौधारोपण ठीक नहीं लगता।

भिंड का गौरी सरोवर दूसरा बटेश्वर धाम माना जाता है।

बीजेपी जिलाध्यक्ष नाथू सिंह गुर्जर का यह बयान आम जनता को आहत पहुंचाने वाला साबित हुआ, क्योंकि भिंड का गौरी सरोवर दूसरा बटेश्वर धाम माना जाता है। भाजपा जिलाध्यक्ष द्वारा दिए गए इस बयान के बाद विपक्ष भी लगातार कटाक्ष करने से नहीं चुक रहा है। जिला कांग्रेस के प्रवक्ता डॉक्टर अनिल भारद्वाज ने कहा कि बीजेपी जिला अध्यक्ष द्वारा दिया गया इस तरह के बयान ने भिंड की जनता की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है।

सीएम शिवराज कर चुके है गौरी सरोवर में दीप प्रज्वलित

गौरी सरोवर को लोग देवी की तरह पूजते हैं। यहां तक की खुद सीएम शिवराज ने अपने भिंड दौरे के दौरान इसी गौरी सरोवर में दीप प्रज्वलित किया था। अब जिला अध्यक्ष द्वारा गौरी सरोवर को गली कूचा कहने पर जनता की नजरो में अध्यक्ष की छवि विलन के रूप में उभर रही है, वहीं डॉक्टर भारद्वाज ने बीजेपी जिला अध्यक्ष द्वारा एक प्रशासनिक कार्यक्रम में दखल देना भी गलत बताया है।

मृदुभाषी के लिए भिंड से राहुल शर्मा की रिपोर्ट