Army Day: ऐसे बने थे करियप्पा भारत के पहले कमांडर इन चीफ

Army Day: जनरल केएम करियप्पा ने भारत के पहले सेना प्रमुख का कार्यभार संभाला था

Army Day: शौर्य, पराक्रम और साहस से पहचानी जाने वाली भारतीय सेना आज अपना 73वां आर्मी डे मना रही है। इसी दिन 15 जनवरी 1949 को जनरल केएम करियप्पा को भारतीय थल सेना का कमांडर इन चीफ बनाया गया था।

परेड का होता है आयोजन

हर साल 15 जनवरी को सेना दिवस मनाया जाता है। इस दिन सेना कि ओर से परेड का आयोजन किया जाता है। जनरल ऑफिसर कमांडिंग, हेडक्वार्टर दिल्ली की अगुवाई में परेड निकाली जाती है। जनरल केएम करियप्पा इस दिन आजाद भारत के पहले सेना प्रमुख बने थे। परेड ग्राउंड का नाम जनरल करियप्पा के सम्मान में करिप्पा ग्राउंड कर दिया गया है।

नाथू सिंह थे कमांडर इन चीफ पद की पहली पसंद

यह दावा किया जाता है कि 1946 में अंतरिम सरकार के रक्षा मंत्री बलदेव सिंह उस वक्त ब्रिगेडियर पद पर तैनात नाथू सिंह को देश का पहला कमांडर इन चीफ बनाना चाहते थे, लेकिन नाथू सिंह ने इंकार कर दिया और कहा कि वरिष्ठ अफसर जनरल करियप्पा के रहते वह इस पेशकश को स्वीकार नहीं कर सकते हैं।

उसके बाद जनरल करियप्पा को भारतीय सेना का प्रमुख नियुक्त किया गया। इस बात की पुष्टि रिटायर मेजर जनरल भुवन चंद्र खंडूरी ने भी अपनी किताब में की है। जनरल करियप्पा ने आजाद हिंदुस्तान में सबसे बड़ा काम कश्मीर में पाकिस्तानी मंसूबों को नाकाम करके किया था।