/

गंगा में मिला लकड़ी का बॉक्स, खोला तो जन्म कुंडली के साथ धड़क रही थी जिंदगी

बच्ची के साथ एक जन्म कुंडली भी मिली है।

गाजीपुर: उत्तर प्रदेश में गंगा की लहरें जीवनदायिनी मानी जाती है और मां अपने करोड़ों बच्चों का पालन-पोषण करती है, लेकिन गंगा में अपनी आजीविका की तलाश में गया एक नाविक उस वक्त हैरान रह गया जब उसको एक लकड़ी का बॉक्स मिला और जब उसने बॉक्स खोला तो उसमें एक मासूम लेटी हुई थी।

बॉक्स में मिली बच्ची

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में मंगलवार को एक अजीब वाकिया हुआ। मछली का तलाश में गंगा के पानी में नाव चला रहे नाविक को गंगा में तैरता हुआ लकड़ी का बॉक्स दिखाई दिया। नाविक ने बॉक्स को लेकर जब खोला तो उसमें एक नवजात बच्ची मिली। बॉक्स में मां दुर्गा की तस्वीर के साथ कई देवी-देवताओं के चित्र लगे थे। इसके साथ एक जन्म कुंडली भी मिली है। बच्ची को पुलिस आशा ज्योति केंद्र ले गई है। बच्ची पूरी तरह स्वस्थ बताई जा रही है।

बच्ची के साथ मिली जन्म कुंडली

गुल्लू चौधरी नाम के शख्स ने पुलिस को बताया कि नदी के किनारे लकड़ी का बॉक्स मिला। उसमें से रोने की आवाज आ रही थी। मल्लाह को देख घाट पर मौजूद कुछ और लोग भी जुट गए। लोगों ने बॉक्स खोला तो उसमें बच्ची चुनरी में लिपटी हुई थी। जन्म कुंडली मे बच्ची का नाम गंगा लिखा हुआ था और उसका जन्म 25 मई को हुआ है। यानी उसकी उम्र सिर्फ तीन सप्ताह है। मासूम को नाविक अपने घर ले गया। उसके परिजन बच्ची को पालना चाहते थे, लेकिन स्थानीय लोगों ने मामले की सूचना पुलिस को दे दी। । पुलिस बच्ची की मेडिकल जांच कराकर उसके परिजनों की तलाश कर रही है।