//

चंबल में jyotiraditya scindia का रोड show, ग्वालियर में राजशाही अंदाज में हुआ स्वागत

ग्वालियर। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर-चंबल के दौरे पर हैं। ग्वालियर के रामदास घाटी में उनका राजशाही अंदाज में स्वागत किया गया। इससे पहले चंबल के राजघाट पुल पर आते ही यहां भारी संख्या में इकट्‌ठा हुए कार्यकर्ताओं और सिंधिया को देखने खड़े लोगों ने उन पर फूल बरसाए और माला पहनाकर स्वागत किया। राजघाट पुल पर ही केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ने भी उनका स्वागत किया।

जब केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर के रामदास घाटी पर पहुंचे तो दोनों तरफ किले सी दीवार थीं और उनके स्वागत में आधा सैकड़ा घोड़ों पर उनके पोस्टर बैनर व पुष्प लेकर युवा बैठे थे। साथ ही सड़क पर बैंड बाजे से उनका राजशाही ठाट में स्वागत किया गया। सिंधिया के स्वागत के लिए ग्वालियर के अलावा भिंड, मुरैना, श्योपुर, शिवपुरी, गुना व अशोक नगर, दतिया से काफी संख्या में लोग आए हैं। करीब 100 बस और 1500 से अधिक अन्य छोटे वाहनों में सवार होकर लोग विभिन्न मार्ग से ग्वालियर पहुंचे हैं।

सिंधिया समर्थक ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह के भाई देवेन्द्र तोमर के रितुराज होटल पर 51 महिलाओं ने कलश लेकर सिंधिया का स्वागत किया। यहां सिंधिया को शक्ति का रूप तलवार भी भेंट की गई। होटल के बाहर जमकर आतिशबाजी की गई। सिंधिया ने कहा कि हम सब मिलकर विकास करेंगे। प्रधानमंत्री के निर्देश पर मंत्रालय का कार्य व्यवस्थित कर अपने-अपने क्षेत्र में आए हैं। कांग्रेस के आरोपों पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस का काम बोलना है और हमारा सिर्फ काम करना है। वो बोलते रहें और हम काम करते रहेंगे। चंबल राजघाट पुल से केंद्रीय मंत्री मुरैना पहुंचे। यहां भी उनका जगह-जगह किया गया। इसके बाद करीब डेढ़ बजे बानमोर और ग्वालियर के लिए निकल गए।

राजघाट से मुरैना पहुंचने में उन्हें पूरा डेढ़ घंटा लग गया

केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का स्वागत चंबल के राजघाट से लेकर ग्वालियर तक किया गया। दोपहर 12 बजे सिंधिया राजघाट पर पहुंच गए थे। यहां पूर्व मंत्री एंदल सिंह कंसाना ने उनका स्वागत किया। उसके बाद उनका काफिला मुरैना की तरफ चला।

राजघाट से मुरैना पहुंचने में उन्हें पूरा डेढ़ घंटा लग गया। केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार मुरैना आए थे। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर के पुरानी छावनी निरावली पॉइंट पहुंचे। यहां से अपनी कार को छोड़कर वह इंदौर से बनकर आए विशेष रथ में सवार हो गए। उनके साथ केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर व अन्य प्रमुख मंत्री भी रोड शो में शामिल हैं। यह रोड शो करीब 20 किलोमीटर की दूरी 7 घंटे में पूरी करेगा।

केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया जैसे ही इंदौर से आए विशेष रथ पर सवार हुए तो उनका पुष्प वर्षा के साथ स्वागत किया गया। निरावली पॉइंट से आगे करीब आधा किलोमीटर तक गुलाब की पंखुड़ियों को सड़कों पर बिछाया गया था। फूल से वेलकम लिखा गया था। सिंधिया के रथ को भी फूलों से सजाया गया था। सिंधिया का रथ रोड शो के लिए पुरानी छावनी, मोतीझील होते हुए रायरू पहुंचा। यहां ऊर्जा मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर के भाई के होटल पर उनका जोरदार स्वागत किया गया।

यहां से रथ यात्रा बहोड़ापुर चौराहा, जेल मार्ग, रामदास घाटी, शिंदे की छावनी, फूलबाग गुरुद्वारा, मोती तबेला, नदी द्वार, जयेन्द्रगंज, इंदरगंज चौराहा, पुराना हाईकोर्ट, ऊंट पुल, पाटनकर बाजार, दौलतगंज, महाराज बाड़ा होते हुए गोरखी मंसूर शाह की दरगाह पर पहुंचेगी। इसके बाद गोरखी, सराफा बाजार, गश्त का ताजिया, राम मंदिर, फालका बाजार, छप्परवाला पुल, नदी द्वार होते हुए जयविलास पैलेस पहुंचेगी। हर जगह उनका भव्य स्वागत होगा। करीब 20 किलोमीटर के रोड शो पर उनका 200 से ज्यादा स्थान पर स्वागत होना है।