//

मोदी कैबिनेट के 42 फीसदी मंत्रियों पर आपराधिक मामले हैं दर्ज, 90 फीसदी हैं करोड़पति

4 मंत्रियों पर हत्या के प्रयास के मामले दर्ज हैं.

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्रीमंडल के 78 मंत्रियों में से 42 फीसदी ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज होने की घोषणा की है जिनमें से चार पर हत्या के प्रयास जैसे गंभीर मामले भी हैं। यह खुलासा एडीआर की रिपोर्ट से हुआ है। बुधवार को 15 नए कैबिनेट मंत्रियों और 28 राज्य मंत्रियों के शपथ लेने के साथ मंत्रीमंडल के सदस्यों की संख्या बढ़कर 78 हो गई है।

एडीआर की रिपोर्ट में हुआ खुलासा

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने चुनावी हलफनामों का हवाला देते हुए बताया कि 42 फीसदी मंत्रियों ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले होने की बात कही है। इसके अलावा 31 फीसदी मंत्रियों ने हत्या, हत्या के प्रयास, डकैती आदि समेत गंभीर आपराधिक मामलों की घोषणा की है। 4 मंत्रियों जॉन बारला, निशित प्रमाणिक, पंकज चौधरी और वी मुरलीधरन ने हत्या के प्रयास से जुड़े मामलों की बात कही है।

4 मंत्रियों के पास 50 करोड़ रू से ज्यादा की संपत्ति

मोदी मंत्रीमंडल में 90 फीसदी यानी 70 मंत्री करोड़पति हैं। इनमें से चार मंत्रियों ज्योतिरादित्य सिंधिया, पीयूष गोयल, नारायण तातु राणे और राजीव चंद्रशेखर ने 50 करोड़ रू से ज्यादा की संपत्ति का उल्लेख किया है।