///

Yamunotri Dham: अक्षय तृतीया के शुभ मुहूर्त में यमुनोत्री धाम के खुले कपाट, ऐसी रहेगी दर्शनों की व्यवस्था

Start

Yamunotri: विश्व प्रसिद्ध यमुनोत्री धाम के कपाट शुक्रवार को अक्षय तृतीया के शुभ अवसर पर दोपहर 12 बजकर15 मिनट पर अभिजीत मुहूर्त में खोल दिए गए। आज से श्रद्धालु यमुनोत्री के दर्शन कर सकेंगे। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए रस्मों को निभाया गया, जिसमें काफी सीमित संख्या में श्रद्धालुओं को शामिल होने की अनुमति दी गई।

अभिजीत मुहूर्त में खोले कपाट

उत्तराखंड के चार धाम के कपाट खोले जाने के अवसर पर हर साल बड़ी संख्या में भक्तों का जमावड़ा रहता है, लेकिन इस बार कोरोना महामारी की दूसरी लहर के चलते लगाए गए लॉकडाउन की वजह से देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं की गैर-मौजूदगी में कपाट खोले गए। इससे पहले यमुना के शीतकालीन निवास खुशीमठ खरसाली से मां यमुना की विदाई हुई, जो 11 बजे यमुनोत्री धाम पहुंची। विधिवत पूजा-अर्चना के बाद अभिजीत मुहूर्त पर कर्क लग्न में दोपहर 12:15 बजे परंपरा के अनुसार वैदिक मंत्रोच्चार केबीच श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ यमुनोत्री धाम के कपाट खोल दिए गए ।

15 मई को खुलेंगे गंगोत्री के कपाट

अब आगामी 6 माह तक देश-विदेश से आने वाले तीर्थयात्री मां यमुना के दर्शन यमुनोत्री धाम में कर सकेंगे, लेकिन कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप की वजह से श्रद्धालुओं को दर्शन करने की अनुमति नहीं दी गई है। यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने से यमुनोत्री मंदिर समिति, पंच पंडा समिति और यमुनोत्री धाम के तीर्थ पुरोहितों सहित खरसाली के ग्रामीणों में उत्सवी माहौल है। अब गंगोत्री धाम के कपाट 15 मई, केदारनाथ धाम के कपाट 17 मई और बदरीनाथ धाम के कपाट 18 मई को खोले जाएंगे।

ऑनलाइन होंगे दर्शन

कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए उत्तराखंड के पर्यटन और धर्मस्थ मंत्री सतपाल महाराज ने देवस्थानम बोर्ड को निर्देश दिया है कि चारों धामों के मंदिरों के ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था की जाए। ऑनलाइन दर्शन के साथ ही भक्त ऑडियो सिस्टम के जरिए पूजा अर्चना भी कर सकेंगे। कोरोना की वजह से प्रदेश सरकार ने इस साल चारधाम यात्रा को स्थगित किया गया है। ऐसे में श्रद्धालुओं की भावनाओं का सम्मान करते हुए, भक्तों के लिए उत्तराखंड सरकार चारधाम के वर्चुअल दर्शन की तैयारी कर रही है। ताकि लोग घर बैठे चारधाम के दर्शन कर सकें।