//

Weather Updates: केरल में मानसून के समय से पहले दस्तक देने की संभावना

Start

नई दिल्लीः कोरोना से त्रस्त देश के लिए कोरोना के मोर्चे से अच्छी खबर आई है। मौसम विभाग के मुताबिक इस बार मानसून समय से पहले पहुंच सकता है। इस तरह से लोग जल्द ही बारीश की बरसती बूंदों का मजा ले सकते हैं।

31 मई को पहुंचेगा केरल

मौसम विभाग का कहना है कि केरल में दक्षिण पश्चिम मानसून इस बार 31 मई को पहुंच सकता है। वैसे आमतौर पर राज्य में मानसून एक जून को दस्तक देता है। गौरतलब है भारतीय मानसून क्षेत्र में, मानसून की बारिश की शुरुआत दक्षिण अंडमान सागर से होती है. यहां बारिश होने के बाद मानसूनी हवाएं उत्तर पश्चिम दिशा में बंगाल की खाड़ी की ओर आगे बढ़ती है। मौसम विभाग के अनुसार मानसून की नई सामान्य तारीखों के अनुसार दक्षिण-पश्चिम मानसून 22 मई के आसपास अंडमान सागर में आएगा। इस वर्ष मानसून के सामान्य रहने की संभावना है।

22 मई को पहुंचेगा अंडमान सागर

मौसम विज्ञान का कहना है कि इस साल दक्षिण-पश्चिम मानसून केरल में 31 मई को पहुंच सकता है, हालांकि उसने यह भी कहा कि इस अनुमान में चार दिन कम या ज्यादा हो सकते है। मौसम विभाग के मुताबिक अरब सागर के ऊपर चक्रवात बनने के आसार हैं। चक्रवात बनने की वजह से सागर के ऊपर भूमध्यरेखा से गुजरने वाली दक्षिण पछुआ हवाएं तेज हो गई हैं। मौसम विभाग का कहना है कि भूमध्यरेखा से गुजरने वाली हवाएं 20 मई से बंगाल की खाड़ी में मजबूत और तेज हो सकती हैं। ऐसे में 21 मई से बंगाल की खाड़ी और अंडमान निकोबार द्वीपसमूह में बारिश होने की संभावना है। इस वजह से मानसून 21 मई को अंडमान निकोबार द्वीपसमूह में दस्तक दे सकता है।