////

किसान बनकर पहुंची लोकायुक्त पुलिस, सचिव घर से ऐसे हुआ फरार

पंचायत सचिव ने नलकूप खनन के लिए 15,000 रुपए की रिश्वत की मांग की थी।

उज्जैन। नलकूप खनन योजना के तहत राशि जारी करने के लिए पंचायत सचिव द्वारा 15,000 रुपए की रिश्वत की मांग की थी। लोकायुक्त एसपी वेदांत शर्मा सचिव को पकड़ने के लिए उनके गांव में किसान जैसा हुलिया बनाकर पहुंचे थे। गांव के बाहर वाहन खड़ा किया तो गांव वालों को शक हुआ और उन्होंने सचिव को इसकी जानकारी दे दी। जैसे ही फरियादी सचिव के घर रिश्वत देने पहुंचा तो घर के पीछे के रास्ते सचिव भाग निकला।

10 हजार रुपये की देना था रिश्वत

उज्जैन जिले की जिला तहसील के गांव कछालिया सेहत के किसान ईश्वर सिंह ने नलकूप योजना के तहत 2. 40 लाख रुपए से कुँवा खुदवाया था। इसके लिए ग्राम पंचायत वनसिह में आवेदन करने पर सचिव रतन लाल चौहान ने एक लाख सत्रह हजार रुपये का भुगतान कर दिया था। बाकी के भुगतान के लिए वह 15 हजार रुपए मांग रहा था। पिछले दिनों इस मामले में ईश्वर सिंह ने लोकायुक्त में शिकायत की थी इस पर लोकायुक्त ने फरियादी और सचिव के बीच मंगलवार को बातचीत करवा कर बुधवार को गांव बोलखेड़ा पहुंचकर घूस की रकम देने को कहा था और 10 हजार रुपये बुधवार को देना तय हुए थे, परंतु फरियादी के पास व्यवस्था नहीं होने पर वह 6000 लेकर पहुंचा था।

शक होने पर फरार हुआ सचिव

योजना के अनुसार लोकायुक्त एसपी वेदांत शर्मा और उनकी टीम पंचायत सचिव रतन लाल चौहान के गांव बोलखेड़ा पहुंच गई। यहां एसपी वेदांत शर्मा ने गांव के बाहर शासकीय वाहन खड़े कर दिए और टीम ने सिर पर गमछा डाल किसान जैसा हुलिया बनाकर गांव में प्रवेश किया। इस बीच गांव के कुछ लोगों को टीम पर शक हो गया और उन्होंने इसकी जानकारी सचिव रतनलाल को दे दी   ईश्वर सिंह को सचिव को रिश्वत देने के लिए उसके घर भेजा तो सचिव घर के पीछे वाले दरवाजे से भाग गया यह देख टीम भी सचिव को पकड़ने के लिए भागी लेकिन आरोपी फरार हो गया पुलिस ने रिकॉर्डिंग के आधार पर रिश्वत लेने का मामला दर्ज किया है।