///

लक्ष्य से ज्यादा टीकाकरण कर उज्जैन ने प्रदेश में पाया तीसरा स्थान

14 केंद्रों को आदर्श टीकाकरण केंद्र बनाया गया था।

उज्जैन: टीकाकरण के महा अभियान में उज्जैन जिले ने रिकॉर्ड टीकाकरण कर प्रदेश में तीसरा स्थान प्राप्त किया है। उज्जैन जिले ने अपने लिए 75,000 टीकाकरण करने का लक्ष्य निर्धारित किया था। राज्य शासन द्वारा 60 हजार का लक्ष्य दिया गया था इसके विरुद्ध एक लाख से अधिक टीके लगाकर जिले ने प्रदेश में तीसरा स्थान प्राप्त किया है।

14 केंद्रों को आदर्श टीकाकरण केंद्र बनाया गया

कोरोना से उबर रहे उज्जैन के लिए 21 जून सोमवार को दिन यादगार बना दिया। टीकाकरण के लिए महाअभियान का यह पहला दिन रिकार्ड बना गया। 75 हजार के लक्ष्य के मुकाबले एक लाख से अधिक लोगों को टीका लगा। टीके के लिए लोगों का उत्साह देखते ही बन रहा था। टीकाकरण रात 10 बजे तक जारी था। कई केंद्रों पर टीका लगवाने के लिए लोग लाइन में लगे रहे। जिले में 416 केंद्र बनाए गए थे। इनमें से 14 केंद्रों को आदर्श टीकाकरण केंद्र बनाया गया था। यहां टीका लगवाने के लिए आने वाले लोगों की सुविधा का पूरा ध्यान रखा गया।

बगैर रजिस्ट्रेशन हुआ टीकाकरण

खास बात यह रही की लोगों को पहले से रजिस्ट्रेशन करवाने की आवश्यकता नहीं थी। इसलिए लोग अधिक संख्या में टीका लगवाने के लिए पहुंचे। सभी केंद्रों पर 18 प्लस से अधिक उम्र तथा 45 वर्ष से अधिक उम्र के लिए टीके लगाने की अलग-अलग व्यवस्था की गई थी। जिले में अब तक 6.13 लाख लोगों को सोमवार तक पहला डोज लगाया जा चुका था। इसके अलावा 87 हजार से ज्यादा लोगों को दूसरा डोज लगाया जा चुका है। इनमें करीब 25 हजार स्वास्थ्यकर्मी, 29 हजार फ्रंटलाइन वर्कर शामिल है।टीकाकरण महाअभियान की व्यवस्थाएं देखने के लिए कलेक्टर आशीष सिंह ने कई केंद्रों का निरीक्षण किया। वे जिले के कई स्थानों पर पहुंचे और टीका लगाने वालों से भी चर्चा की। उन्होंने अपील की कि सभी टीका नहीं लगवाने वाले लोगों को प्रोत्साहित करें और टीका जरूर लगवाएं।

टीकाकरण का प्रतिशत बढ़ने के बाद उज्जैन सांसद अनिल फिरोजिया ने भी जनता का धन्यवाद दिया और कहा कि आगामी 30 तारीख महा अभियान के तहत वैक्सीनेशन का कार्य किया जाएगा। जनता से अपील है कि सभी लोग सेंटर पर पहुंचकर हंड्रेड परसेंट वैक्सीनेशन करवा ले जिससे तीसरी लहर से लड़ सकेंगे।