////

इंदौर में दो बदमाशों के अतिक्रमण किए ध्वस्त, परिजनों ने किया हंगामा

बुधवार को इंदौर में दो बदमाशों के अतिक्रमण हटाए गए।

इंदौर। मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर में एंटी गुंडा अभियान के तहत जिला प्रशासन और नगर निगम के साथ पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए छत्रीपुरा और पंढरीनाथ थाना क्षेत्र के लिस्टेड बदमाशों के अतिक्रमण को जमींदोज किया। कार्रवाई के दौरान बदमाशों के परिजनों द्वारा किए गए हंगामे के चलते पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया है।

बदमाशों की संपत्ति को बनाया जा रहा है निशाना

मध्यप्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान द्वारा दिए गए निर्देशों के मुताबिक प्रदेश के गुंडे-बदमाशों और ड्रग माफियाओं के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के तहत लगातार लिस्टेड बदमाशों, नशे के कारोबार से जुड़े लोगों और मिलावटखोरों की संपत्ति को निशाना बनाया जा रहा है। इसी कड़ी में इंदौर शहर में अभी तक एंटी माफिया अभियान के तहत करीब 60 से 65 अतिक्रमण को नगर निगम के द्वारा जमींदोज किया जा चुका है। जिला प्रशासन, पुलिस विभाग और नगर निगम इस कार्रवाई में संयुक्त भूमिका निभाते हुए शहर को भयमुक्त, नशा सहित भू माफिया से निजात दिलाने का काम करता हुआ दिखाई दे रहा है।

बदमाश मोहिनउद्दीन का मकान किया जमीदोज

इसी कड़ी में सुबह तड़के के छत्रीपुरा थाना क्षेत्र के लिस्टेड बदमाश मोहिनउद्दीन के बहुमंजिला अतिक्रमण को पोकलेन मशीन ने कुछ ही मिनटों में जमींदोज कर दिया। लिस्टेड बदमाश मोहिउद्दीन पर कई अपराधिक मामले शहर के विभिन्न थाना क्षेत्रों में दर्ज हैं, जिसके अतिक्रमण को तोड़ने की कार्रवाई की गई है। तो वहीं दूसरी कार्रवाई पंढरीनाथ थाना क्षेत्र के बंबई बाजार में अंतर बैग नामक लिस्टेड बदमाश पर करते हुए उसके अतिक्रमण को तोड़ा गया है। अंतर बैग पर भी दर्जनों अपराधिक मामले दर्ज हैं। वह पूर्व पार्षद अयाज बैग का भतीजा बताया जा रहा है।

परिजनों ने किया हंगामा, केस हुआ दर्ज

कार्रवाई के दौरान दोनों ही स्थानों पर लिस्टेड बदमाशों के परिजनों द्वारा नगर निगम कर्मचारी के साथ काफी बहस करते हुए नजर आए जिसमें पुलिस ने मौके पर से कई लोगों को गिरफ्तार किया इनमें कई महिलाएं भी शामिल हैं अपर आयुक्त का कहना है कि कार्यवाही में नगर निगम कर्मचारियों के साथ अभद्र व्यवहार करने वाले लोगों पर शासकीय कार्य में बाधा सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज कराया जाएगा और उन्हें सख्त से सख्त सजा दिलवाई जाएगी।