/

फोटो खिचवाने के बाद ट्रोल हुए ,सांसद शंकर लालवानी ने दी सफाई

इंदौर। कोरोना मरीजों में संक्रमण को रोकने में डीआरडीओ की टूडीजी दवा कारगर साबित हो रही है। ऐसे ही एक वृद्ध पेशेंट जिसको टूडीजी दवा दी गई थी उसके साथ अस्पताल में फोटो खिचवाने पर इंदौर सांसद शंकर लालवानी को ट्रोल का शिकार होना पड़ा, जिसके बाद शंकर लालवानी ने इस फोटो पर स्पष्टीकरण दिया है ।

इंदौर के सांसद शंकर लालवानी हर छोटे -बड़े कायक्रमों में फोटो खिचवाने को लेकर सुर्खियों में रहते है। लेकिन उनका हर जगह फोटो खिचवाना उन्हें कई बार भारी भी पड़ चूका है । एक बार फिर सांसद ने ऐसा फोटो खिचवाया है की वह लोगों की आखों की किरकिरी बन गए है। कोरोना मरीजों में संक्रमण को रोकने में डीआरडीओ की (2-DG) दवाई कारगर साबित हो रही है। हालाकि,अभी तक ये दवा इंदौर के बाजार में उपलब्ध नहीं है। लेकिन हाल ही में शहर के एक निजी अस्पताल में मरीज को डीआरटीओ की टूडीजी दवा दी गई है। जिसके असर से कुछ ही घंटे में  मरीज का ऑक्सीजन लेवल बड़ गया वही,मरीज की हालत में सुधार है। हालाकि,ये दवा मरीज के परिजन हैदराबाद से लेकर आए थे। वहीं,सांसद शंकर लालवानी ने मरीज से मुलाकात भी की थी। लेकिन कोविड वार्ड में मरीज के साथ लिया गया सांसद का फोटो सोशल मीडिया पर ट्रोल हो गया। जिसकी वजह से सांसद को सफाई भी देनी पड़ी।

इंदौर के बाजार में नहीं है डीआरडीओ की (2-DG) दवा

हालाकि,अब सांसद शंकर लालवानी का कहना है, डीआरडीओ की (2-DG) दवा फिलहाल,इंदौर के बाजार में नहीं है। लेकिन आर्डर देकर दवा को मंगाया जा सकता है। जिसकी जानकारी वे अपने सोशल मीडिया एकाउंट से जल्द ही शेयर करेंगे। फिलहाल,डीआरडीओ की (2-DG) दवा को लेकर विशेषज्ञ डॉक्टर्स ने कोई अधिकृत बयान नहीं दिया है।