मात्र 9 हज़ार की सैलेरी से बना डाली करोड़ों की संपत्ति !

मध्यप्रदेश में EOW जबलपुर और सागर की टीम ने निवाड़ी और मंडला जिले में छापे मारे हैं। वहां पर टीम को जो मिला उसे देख सब के होश उड़ गए।


शनिवार सुबह निवाड़ी में जल संसाधन विभाग के रिटायर्ड टाइम कीपर और मंडला जिले में 2 सोसाइटी मैनेजर्स के ठिकानों पर छापे पड़े। दोनों मैनेजर्स भाई हैं। एक भाई के पास आय से 1100% अधिक खर्च और संपत्ति मिली है। 10 लाख रुपए कैश मिले हैं। जबकि इसकी मंथली सैलरी लगभग 9 हजार रुपए है।

टीम ऐसे समय पहुंची, जब सभी अपने घरों में सो रहे थे। दरवाजे पर टीम को देखते ही सिट्‌टी-पिट्‌टी गुम हो गई। अब तक की जांच में तीनों के पास आय से अधिक संपत्ति पाई गई है। मामले में रिटायर्ड टाइम कीपर, उसके बेटे के खिलाफ केस किया गया है। मंडला में दोनों मैनेजर भाइयों के साथ उनकी पत्नियों पर भी केस किया गया है।

10 लाख रुपए कैश। इटका, नैनपुर, मंडला में दुकान और 5000 स्क्वायर फीट का गोदाम। चाकोरपुर पुरानी बस्ती में 1000 स्क्वायर फीट में बना मकान। मंडला-नैनपुर हाईवे पर दुकान और 3982 स्क्वायर फीट का गोदाम। अलग-अलग जगह ढेरों प्लॉट। और 3 पिकअप वाहन, स्कूटर और बाइक। राजू जायसवाल के पास अब तक इतनी प्रॉपर्टी की जानकारी मिली है।

वहीं मंडला जिले के ही नैनपुर में समिति प्रबंधक गणेश जायसवाल का रेलवे स्टेशन कॉलोनी के पीछे मकान और इटका स्थित दुकान में सर्च की जा रही है। अब तक आय से 600% अधिक संपत्ति मिली है। गणेश और उनकी पत्नी अनीता पर केस दर्ज किया गया है।