///

सैर सपाटा के लिए निकले लोगों पर प्रशासन ने बरसाए डंडे व लाठी

बेवजह सड़कों पर घूमने वालों पर पुलिस ने की सख्ती

कोरोना महामारी की दूसरी लहर इतनी भयानक है कि किसी भी व्यक्ति को समझने का मौका नहीं मिल पा रहा है, कि वह इस बिमारी से कैसे निरात पाए। वही जो लोग शहर में बेवजह घूम रहे है वो इस बात से अनजान है कि इस तरह की लापरवाही उनके जीवन में कितना बड़ा बदलाव कर सकती है। और वह ना चाहते हुए भी इस संक्रमण का शिकार हो सकते है। इसी को देखते हुए बीते साल लगे सम्पूर्ण लॉकडाउन में जो हालात थे जिसमे बेवजह घूमने वाले लोगो को प्रशासन का खौफ था। वही सख़्ती एक बार फिर इंदौर शहर में देखने को मिली।

आज़ाद नगर क्षेत्र में प्रशासन की सख़्ती

शहर में प्रशासन की सख़्ती ने एक बार फिर 2020 के लाॅकडाउन की याद दिला दी । ऐसा ही नाजारा देखने को मिला देर रात आज़ाद नगर में जहाँ अनावश्य घूमने वाले लोगों से प्रशासन द्वारा पुछताछ की गई व बेवजह घूमने वालो पर 151 कि धारा के तहत कार्रवाई की गई । आजाद नगर थाना प्रभारी मनीष डावर ने बताया की जनता कर्फ्यू के दौरान लोगों को लगातार प्रशासन द्वारा हिदायत दे कर समझाइश दी जा रही थी कि बेवजह घर से बाहर ना निकले प्रशासन द्वारा जनता कर्फ्यू में सुबह 6:00 बजे से 12:00 बजे तक ढील दी गई थी। लेकिन वहीं देर शाम पुलिस प्रशासन द्वारा उन लोगो पर डंडे व जमकर लाठी भांजी गई जो लोग रात में घरों से बाहर निकलकर शेर सपाटा पर निकले थे । शहर में लगातार कोरोना मरीजों की तादाद प्रतिदिन बढ़ती जा रही है । जिसके चलते आम जनता से अपील की जा रही है कि अनावश्य घर से बाहर ना निकले लेकिन इसके बावजूद भी लापरवाह लोग बाहर घूम कर संक्रमण की दर घटाने की जगह बढ़ाते नजर आरहे है ।

सोमवार को इंदौर में आए कोविड-19 के 1805 नए मामले

राज्य में पिछले 24 घंटों में कोरोना से 93 व्यक्तियों की मौत हुई है। इसके बाद प्रदेश में कोरोना से मरने वाले लोगों की कुल संख्या 5905 हो गई है। सोमवार को कोविड-19 के 1805 नए मामले इंदौर में आए, जबकि भोपाल में 1669, ग्वालियर में 910 एवं जबलपुर में 739 नए मामले आए। आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में कुल 6,00,430 संक्रमितों में से अब तक 5,08,775 मरीज स्वस्थ होकर घर चले गये हैं और 85,750 मरीजों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में चल रहा है।