////

Coronavirus: कोरोना के खिलाफ जंग में भारत पहुंचेगा आज एक ओर हथियार, रुस से मिलेगी अहम सौगात

Start

Sputnik Vaccine: कोरोना के खिलाफ सबसे मुश्किल जंग लड़ रहे भारत के पास एक ओर हथियार आज आ जाएगा। देश में रूसी कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक-वी की पहली खेप आज पहुंच रही है। इस वैक्सीन के भारत पहुंचने के साथ ही देश में टीकाकरण की रफ्तार और तेज हो जाएगी। स्पूतनिक-वी को गमालया नेशनल रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी के द्वारा बनाया गया है।

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मिलेगी मदद

समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष के एक अधिकारी के हवाले से बताया कि भारत को 1 मई को रूसी कोरोना वैक्सीन ‘स्पूतनिक वी’ के पहली खेप मिल जाएगी।उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि रूस की यह वैक्सीन सप्लाई भारत को कोरोनो वायरस महामारी की दूसरी लहर से लड़ाई में काफी मददगार रहेगी। पहले इस वैक्सीन की क्षमता पर सवाल उठाए गए थे, लेकिन ट्रायल के डेटा को जब द लांसेट में प्रकाशित किया गया तो इसको सुरक्षित और प्रभावी बताया गया।

भारत ने आपात इस्तेमाल को दी मंजूरी

स्पूतनिक-वी तीसरे चरण के परीक्षण में 91.6 फीसद प्रभावी साबित हुई है। ‘द लांसेट’ जर्नल में प्रकाशित आंकड़ों के अंतरिम विश्लेषण में यह दावा किया गया है। ये नतीजे करीब 20,000 प्रतिभागियों से इकट्ठा किए गए आंकड़ों के विश्लेषण पर आधारित हैं। इस वैक्सीन के कोई दुष्प्रभाव भी नजर नहीं आए हैं। भारत ने अप्रैल महीने में इसके आपात इस्तेमाल को मंजूरी दी थी। । भारत के केंद्रीय औषधि प्राधिकरण की एक विशेषज्ञ समिति ने कुछ शर्तों के साथ ‘स्पूतनिक वी’ के आपात इस्तेमाल को मंजूरी देने की सिफारिश की थी।