/

केपटाउन टेस्ट जीतने के साथ दक्षिण अफ्रीका ने सीरीज पर जमाया कब्जा

Start

केपटाउन। दक्षिण अफ्रीका ने केपटाउन में खेले गए तीसरे और आखिरी टेस्ट में भारत को सात विकेट से हरा दिया। यह इस सीरीज में टीम इंडिया की लगातार दूसरी हार है। इससे पहले जोहान्सबर्ग में अफ्रीकी टीम ने भारतीय टीम को सात विकेट से हराया था। सेंचुरियन में खेले गए पहले टेस्ट में हारने के बाद दक्षिण अफ्रीका ने जबरदस्त वापसी की और लगातार दो मैच जीतकर सीरीज भी 2-1 से अपने नाम की। कीगन पीटरसन को प्लेयर ऑफ द मैच और प्लेयर ऑफ द सीरीज चुना गया। भारत ने पहली पारी में 223 रन बनाए थे और दक्षिण अफ्रीका को पहली पारी में 210 रन पर समेट दिया था। इसके बाद दूसरी पारी में ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारत ने 198 रन बनाए थे और अफ्रीका के सामने 212 रन का लक्ष्य रखा था। इसके जवाब में कीगन पीटरसन के बेहतरीन 82 रन और रसी वान डर डुसेन के नाबाद 41 रन की बदौलत दक्षिण अफ्रीका ने शानदार जीत हासिल की। अब भारत और दक्षिण अफ्रीका की टीम 19 जनवरी से वनडे सीरीज खेलेगी।

कमजोर दक्षिण अफ्रीका के लिए महत्वपूर्ण जीत

यह जीत दक्षिण अफ्रीका के लिए इस लिए भी खास है, क्योंकि इस टीम को कमजोर माना जा रहा था। दक्षिण अफ्रीकी टीम में नए-नए खिलाड़ी मौजूद थे और उनका कप्तान भी नया था। वहीं, टेस्ट रैंकिंग में नंबर एक पर काबिज भारतीय टीम में एक से बढ़कर एक स्टार खिलाड़ी मौजूद थे। इसके बावजूद दक्षिण अफ्रीकी टीम के युवा खिलाड़ियों ने गजब का जज्बा दिखाया। यह नहीं भूलना चाहिए कि इस सीरीज से पहले तेज गेंदबाज एनिरक नॉर्ट्जे चोटिल होकर बाहर हो गए थे। वहीं, सेंचुरियन टेस्ट के बाद दक्षिण अफ्रीका के स्टार बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक ने भी संन्यास ले लिया था। दक्षिण अफ्रीका ने इस सीरीज में एक टॉस भी नहीं जीता, इसके बावजूद उन्होंने जीत हासिल की।

दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी

212 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही। तीसरे दिन टीम ने 23 रन पर अपना पहला विकेट गंवाया। एडेन मार्करम 16 रन बनाकर शमी की गेंद पर राहुल को कैच थमा बैठे। वहीं, डीन एल्गर 96 गेंदों पर 30 रन बनाकर आउट हुए। एल्गर और पीटरसन के बीच 134 गेंदों पर 78 रन की साझेदारी हुई। तीसरे दिन खूब ड्रामा देखने को मिला। डीआरएस विवाद के बाद दिन के आखिरी ओवर में बुमराह की गेंद पर एल्गर का बल्ला लगा, लेकिन फील्ड अंपायर ने उन्हें नॉटआउट दिया। इसके बाद विकेटकीपर पंत के कहने पर कप्तान कोहली ने रिव्यू लिया। रिव्यू में दिखा कि गेंद एल्गर के बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर तक पहुंची थी। इसके बाद फील्ड अंपायर को अपना फैसला बदलना पड़ा और एल्गर आउट हुए। इसके बाद अंपायर ने स्टंप्स की घोषणा की।

चौथे दिन दक्षिण अफ्रीका ने दो विकेट पर 101 रन से आगे खेलना शुरू किया। कीगन पीटरसन ने अपनी पारी को आगे बढ़ाया और टेस्ट करियर का तीसरा अर्धशतक लगाया। उन्होंने शानदार बल्लेबाजी करते हुए डुसेन के साथ तीसरे विकेट के लिए 54 रन की साझेदारी की और भारत के हाथों से मैच छीन लिया। पीटरसन 82 रन बनाकर आउट हुए। वहीं, डुसेन और बावुमा ने मिलकर दक्षिण अफ्रीका को मैच जिता दिया। बावुमा 32 रन बनाकर नाबाद रहे।

भारत की पहली पारी

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम ने पहली पारी में 223 रन बनाए थे। इस पारी में चेतेश्वर पुजारा ने 43 रन की पारी खेली। वहीं, कप्तान कोहली ने सबसे ज्यादा 79 रन बनाए। इसके अलावा ऋषभ पंत ने 27 रन की पारी खेली। ओपनर्स केएल राहुल 12 रन और मयंक अग्रवाल 15 रन ही बना सके और फेल रहे। वहीं, अजिंक्य रहाणे भी सिर्फ 9 रन बना सके। दक्षिण अफ्रीका की ओर से रबाडा ने चार विकेट झटके। वहीं, मार्को जेन्सन को तीन विकेट मिला।

दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी

दक्षिण अफ्रीका ने पहली पारी में 210 रन बनाए। कीगन पीटरसन ने सबसे ज्यादा 72 रन बनाए। इसके अलावा केशव महाराज 25 रन, वान डर डुसेन 21 रन और तेम्बा बावुमा 28 रन बना सके। इसके अलावा बाकी बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर सके। भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह ने पांच विकेट लिए। वहीं, उमेश यादव और मोहम्मद शमी को दो-दो विकेट मिला।

भारत की दूसरी पारी

दूसरी पारी में भारतीय टीम की बल्लेबाजी खराब रही। भारतीय टीम ने 198 रन बनाए। इसमें से ऋषभ पंत ने अकेले नाबाद 100 रन बनाए थे। इसके अलावा कोहली 29 रन बना सके। इसके अलावा केएल राहुल 10 रन, मयंक 7 रन, पुजारा 9 रन और रहाणे 1 रन ही बना सके। दक्षिण अफ्रीका की ओर से मार्को जेन्सन ने चार विकेट और रबाडा-एनगिडी ने तीन-तीन विकेट झटके। भारत ने 211 रन का लीड लिया और 212 रन का लक्ष्य रखा।